ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
वाल्मीकिनगर(प.च.) :: त्यौहार विशेष शुभकामना आदान-प्रदान कार्यक्रम का भारत नेपाल सीमा पर स्थित राष्ट्रीय माध्यमिक विद्यालय छिवनी नवल परासी नेपाल में किया गया आयोजन
October 25, 2019 • aaditya prakash srivastava

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी, वाल्मिकीनगर प.च. बिहार। भारत नेपाल सीमा पर स्थित राष्ट्रीय माध्यमिक विद्यालय छिवनी नवल परासी नेपाल में त्यौहार विशेष शुभकामना आदान-प्रदान कार्यक्रम का आयोजन भारत नेपाल  के कलाकारों द्वारा किया गया। भारत नेपाल मैत्री का संदेशा भारत नेपाल के कलाकारों ने हिंदी, नेपाली एवम् थारू गीतों की प्रस्तुति करके दिया। कार्यक्रम का शुभारंभ विद्यालय के प्राचार्य मोती प्रसाद चौधरी, अभिनेता डी आनंद, होम लाल प्रसाद, समाजसेवी एवं गायक संगीत आनंद, मिठाई लाल चौधरी, एवं स्वास्थ्य कर्मी अशोक कुमार पांडे ने संयुक्त रूप दीप प्रज्वलित करके किया। वर्ग 9 एवं 10 की छात्राओं ने शिक्षाप्रद गीतों पर भाव नृत्य की प्रस्तुति करके अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाया।

स्वरांजलि सेवा संस्थान के निदेशक डी.आनंद तथा थारू कला संस्कृति एवं प्रशिक्षण संस्थान के सचिव होम लाल प्रसाद ने भारतीय कला संस्कृति को जीवंत किया। श्री आनंद की नेपाली प्रस्तुति दीपावली को हार्दिक शुभकामना पर देर तक तालियां बजती रही। श्री आनंद ने कहा कि भारत नेपाल की मैत्री प्राचीन काल से रही है। प्रभु श्री रामचंद्र जहां भारत के थे , वहीं सीता माता नेपाल की थी। भारत और नेपाल का संबंध बेटी - रोटी का है। थारू कला संस्कृति के सचिव होम लाल प्रसाद ने सरकारी विद्यालय में ऐसे कार्यक्रमों के आयोजन की जमकर तारीफ की। समाजसेवी एवं गायक संगीत आनंद ने कहा कि सरकारी विद्यालयों में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के साथ-साथ सर्वांगीण विकास हेतु ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन समय-समय पर किया जाना चाहिए। जल जीवन हरियाली विषय पर आधारित कार्यक्रम को वाल्मीकि नगर की छात्रा चांदनी कुमारी एवं भाग्यश्री कुमारी ने प्रस्तुत किया। चंपापुर गनौली पंचायत की छात्रा खुशबू कुमारी ने भ्रूण हत्या पर केंद्रित गीत को गाकर अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। भारतीय कलाकारों का सम्मान नेपाली रीति रिवाज से किया गया। स्वरांजलि सेवा संस्थान एवं थारू कला संस्कृति द्वारा आगामी 2020 की परीक्षा में सफल आने वाली 5 छात्रा एवं पांच छात्रों को सम्मानित करने का वादा किया। श्री डी आनंद ने दहेज प्रथा, बाल विवाह, मद्यपान आदि कुरीतियों के उन्मूलन पर आधारित गीतों को प्रस्तुत किया।डी. आनंद की भोजपुरी प्रस्तुति बेटा और बेटी में अंतर ना राखल कर s पर देर तक तालियां बजती रही। गायक एवं तबला वादक शिव चंद्र शर्मा ने भारत नेपाल की सांस्कृतिक धरोहरों को संभाल के रखने की अपील की। इस मौके पर शिक्षक धर्मराज प्रसाद, शिक्षक मोहन प्रसाद चौधरी, संतोष कुमार, राम नारायण प्रसाद, अशोक कुमार पांडे ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ।भारत नेपाल के कलाकारों ने संयुक्त रूप से समवेत स्वर में हम होंगे कामयाब गीत गाकर इस कार्यक्रम को विराम दिया। सरकारी विद्यालय में भारत नेपाल मैत्री एवं त्योहार शुभकामना आदान-प्रदान विषय पर आधारित कार्यक्रम के आयोजन से क्षेत्र वासियों में खुशी की लहर दौड़ गई है।