ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
वाल्मीकिनगर(प.च.) :: नारायणी गंडकी माता की ६७ वीं महाआरती कार्यक्रम का कार्तिक पूर्णिमा एवं गुरु नानक जयंती के अवसर पर किया गया आयोजन
November 13, 2019 • aaditya prakash srivastava • आध्यात्म

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी, बगहा/वाल्मिकीनगर प.चं. बिहार। भारत नेपाल सीमा पर स्थित शिवालय घाट त्रिवेणी धाम नेपाल परिसर में कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि गायक एवं अभिनेता अमित अंजन, मुख्य प्रवचन कर्ता बालक दास बाबा, संस्थापक डी. आनंद, विशिष्ट अतिथि भूतपूर्व वायु सैनिक मुन्ना सिंह, भाजयुमो महाराजगंज के पूर्व जिला अध्यक्ष दुर्गा प्रसाद गुप्ता, बिरहा गायक श्याम देव साहनी, परमार्थ संस्थान के संस्थापक दिनेश मुखिया, थारू कला संस्कृति एवं प्रशिक्षण संस्थान के सचिव होमलाल प्रसाद,व्याख्याता आशुतोष मिश्रा, लोक कल्याण विकास मंच के संजय सिंह एवं नेपाल की पार्श्व गायिका वर्षा श्रेष्ठ ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके कार्यक्रम का श्रीगणेश किया।श्री बालक दास बाबा ने कहा कि आज का दिन काफी महत्वपूर्ण है। कार्तिक पूर्णिमा के दिन संगम तट पर स्नान दान की विशेष महिमा धार्मिक ग्रंथों में बताई गई है। लोकप्रिय भजन गायक अमित अंजन के भजनों पर देर तक भक्तगण झूमते रहे। श्री अंजन ने कहा कि वाल्मीकि धाम एवं त्रिवेणी धाम को नई पहचान दिलाने में इस कार्यक्रम का बहुत बड़ा योगदान है। उत्तर प्रदेश के गायक उमेश जैसवाल उमंग ने हिंदी भजनों के माध्यम से गुरु नानक देव के जीवन को त्याग और तपस्या की मूर्ति कहा। बिरहा गायक श्याम देव साहनी ने अयोध्या राम मंदिर पर केंद्रित गीत को बड़ी खूबसूरती के साथ प्रस्तुत किया। पार्श्व गायिका वर्षा श्रेष्ठ के हिंदी नेपाली भजनों पर देर तक तालियां बजती रही। महाआरती कमेटी के अध्यक्ष शिक्षाविद् सत्यदेव पांडे ने कहा कि स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम के माध्यम से पर्यावरण संरक्षण संवर्धन एवं जल जीवन हरियाली का संदेश प्रमुखता से दिया जा रहा है। पूर्व सैनिक मुन्ना सिंह ने कहा कि भारत देश वीरों की धरती है। आज की युवा शक्ति को जागरूक बनाने में ऐसे कार्यक्रमों का विशेष योगदान है। स्वरांजलि सेवा संस्थान की गायिका आशा साहू ,कुमारी संगीता, चांदनी कुमारी ,नीलम कुमारी एवं खुशबू कुमारी ने समवेत स्वर में देवी पचरा प्रस्तुत किया। कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर बड़ी संख्या में भारत नेपाल से आए भक्तों ने त्रिवेणी संगम तट पर भक्ति सागर में डुबकियां लगाई। विविध क्षेत्रों में विशिष्ट कार्य हेतु भजन गायक अमित अंजन,समाजसेवी दुर्गा प्रसाद गुप्ता, बिरहा गायक श्याम देव साहनी ,समाज सेवा के क्षेत्र में दिनेश मुखिया, स्वच्छ स्वस्थ पत्रकारिता के लिए नागेंद्र कुशवाहा, विजय शर्मा व राजीव पांडे , समाजसेवी विनोद मद्धेशिया, अनूप जायसवाल, व्याख्याता दीपक जायसवाल, ,पार्श्व गायिका वर्षा श्रेष्ठ, समाजसेवी संगीत आनंद, लखनऊ के हरिराम यादव एवं हेमलाल जायसवाल आदि विशिष्ट व्यक्तित्व नारायणी गंडकी सम्मान से सम्मानित किए गए। सिसवा विकास समिति के महामंत्री अनूप जायसवाल ने कहा कि यह संस्था विगत 8 वर्षों से दिव्यांगों को सुबह-शाम भोजन कराती है, हमारी संस्था द्वारा इस कार्यक्रम में भरपूर सहयोग दिया जाएगा क्योंकि मानवता सबसे बड़ा धर्म है।ढोल शंख करताल की मदद होनी के बीच नारायणी गंडकी माता की भव्य महाआरती की गई। इस मौके पर गायक विजय प्रकाश मद्धेशिया, सोनू तिवारी, शिव चंद्र शर्मा, लोक कल्याण विकास मंच के पंचायत अध्यक्ष संजय पटेल, थरुहट के गायक कार्तिक कुमार काजी, राधेश्याम यादव, झुन्ना बाबा, एकबाली यादव ,अनीश राय, मनजीत उरांव, राम रंजन सिंह, राजू राजेंद्र अनीश राय ,शिक्षक रामरतन गुप्त, वरिष्ठ नागरिक बुद्धदेव शुक्ला,राजेश निगम,नेपाल के संत बालकदास, भैरवलाल शर्मा, प्रमोद रौनीयार,आदि उपस्थित थे। नेपाल के व्यवसाय राजेश निगम ने अल्पाहार का इंतजाम किया , वहीं कान्हा इंटरप्राइजेज द्वारा महाप्रसाद का इंतजाम किया गया था। मंच संचालन डी. आनंद ने किया ,जबकि धन्यवाद ज्ञापन दुर्गा प्रसाद गुप्ता ने किया । कार्यक्रम के अंत में लोकप्रिय गायक एवं अभिनेता अमित अंजन ने राम जन्मभूमि पर मधुर गीत प्रस्तुत करके भक्तों को जय श्रीराम के नारे लगाने के लिए मजबूर कर दिया।