ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
सोनभद्र :: सरकारी योजनाओं मे लाभार्थी को राहत उपलब्ध कराये जाने के एवज मे धनराशि मांगे जाने  पर लेखपाल निलम्बित
January 4, 2020 • aaditya prakash srivastava • अपराध

अनूप श्रीवास्तव, सोनभद्र। पिता की सर्प दंश से मृत्यु होने के फल स्वरूप दैविय आपदा मद से चार लाख रुपये के भुगतान पर लेखपाल द्वारा तिरसठ हजार रुपये लिया गया है तथा किसान दुर्घटना बीमा के भुगतान हेतु पचीस हजार रुपये की मांग की जा रही है। इसकी जानकारी पीड़ित ने उप जिलाधिकारी को प्रार्थना पत्रर के माध्यम से दी और उचित कार्यवाही का मांग भी किया था।

बताते चलें कि मुखदेव प्रसाद पुत्र बाल कन्हाई निवासी ग्राम‌ कोंगा तहसील दुद्धी ने प्रार्थना पत्र उप जिलाधिकारी को सौंप कर लेखपाल के कारगुजारीयों की जानकारी दिया गया था कि क्षेत्रिय लेखपाल अशोक कुमार जायसवाल द्वारा प्रार्थी के पिता की सर्प दंश से मृत्यु होने के फल स्वरूप दैविय आपदा मद से चार लाख रुपये के भुगतान पर तिरसठ हजार रुपये लिया गया है तथा किसान दुर्घटना बीमा के भुगतान हेतु पचीस हजार रुपये की मांग की जा रही है। मुखदेव प्रसाद पुत्र बाल कन्हाई के प्रत्यावेदन व प्रस्तुत रिकॉर्डिंग की सीडी के अवलोकनोपरान्त प्रथम दृष्टया यह पाया गया कि अशोक कुमार जायसवाल लेखपाल सरकारी योजनाओं के अन्तर्गत लाभार्थी को राहत उपलब्ध कराये जाने के एवज मे धनराशि मांगे जाने तथा विभाग के साथ-साथ उच्चाधिकारीयोंं के छवि को धुमिल किये जाने का दन्डनीय कृत्य किया गया है। 
उपरोक्त कृत्य के फल स्वरुप तहसील दार दुद्धी की प्राप्त संस्तुति के परिपेक्ष्य मे तथा कर्मचारी आचरण नियमावली एवं शासन नीतिओंं के उल्लंघन किये जाने एवं लाभार्थी एवं किसान से रिसवत मांगे जाने जैसे कृत्य के कारण लेखपाल को ततत्काल प्रभाव से निलम्बित करते हुये निलम्बन प्रकरण की जांच हेतु नायब तहसीलदार दुद्वी को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है। लेखपाल अशोक कुमार जायसवाल निलम्बन अवधि मे रजिस्ट्रार कार्यालय से सम्बध रहेगे। इससे पुर्व भी शंकर राजनारायण आदि ने भी लेखपाल‌पर पैसा लेने का  अरोप लगा चुके हैं किन्तु कोई कार्यवाही नही हुई थी।