ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
सोनभद्र :: पुलिस ने जुआरीओ पर की कारवाई, भाजपा नेता भी धराए
October 29, 2019 • aaditya prakash srivastava

अनूप श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी, डाला, सोनभद्र। पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर ओबरा क्षेत्राधिकारी भास्कर वर्मा के नेतृत्व में सोमवार की सायं लगभग साढे छ: बजे स्थानीय चौकी के अन्तर्गत बाड़ी स्थित एक मकान मे जुआ खेल रहे भाजपा नेता समेत 12 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। जुआरीओं को पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर न्यायलय भेज दिया। सोनभद्र न्यायलय मे जमानत न मिल पाने की वजह से 14 दिनो की न्यायिक हिरासत मे जेल भेज दिया गया।

जानकारी के अनुसार पुलिस अधिक्षक को मुखबीर द्वारा सुचना मिलि की बाड़ी स्थित एक मोटर बाइंडिंग के वर्कशाप में दर्जनो लोग गिरोह बनाकर जुआं खेल रहे है। सुचना मिलते ही ओबरा सीओ मय फोर्स मौके पर पहुंंच गए और जुआ खेतले वक्त चोपन निवासी भाजपा जिला महामंत्री रामसुन्दर निषाद, मनोज कुमार अग्रवाल, मंजर अली, गोविंद कुमार, सरोज कुमार, मुन्नन ऊर्फ मुजीब आलम, अंकुर, सैफुल्ला अंसारी, ओबरा निवासी दिनेश अग्रहरी, संदीप जिंदल, रविन्द्र कुमार अग्रहरी व डाला निवासी संकठा मौर्या को गिरफ्तार कर लिया गया। छापेमारी के दौरान मौके से माल फड़ 36130 और जमा तलासी के वक्त 33100 रुपए बरामद हुआ साथ ही ग्यारह मोटर साइकिल व एक क्रेटा कार को भी जब्त कर लिया गया।

जहॉ जुआ खेला जा रहा था वहॉ मौके पर दर्जनोंं शराब की बोतले व खाने के चिकन की व्यवस्था भी मौजुद थी।

बता दें कि जुआ खेलते वक्त भाजपा नेता व कुछ कार्यकर्ताओं के पकड़े जाने की खबर से सैकडोंं कार्यकर्ता चोपन थाने पर डटे रहे। परन्तु पुलिस अधिक्षक के कड़े रुख को देखकर उन्हे निरासा ही हाथ लगी। पुलिस ने पकडे गए जुआरीयो को जुआ अधिनियम 3/4 के तहत व वाहनो को मोटर अधिनियम के तहत मुकदमा पंजीकृत करके जुआरीयों को जेल भेज दिया। इस दौरान पुलिस टीम चोपन इंस्पेक्टर प्रवीण कुमार सिंह , ओबरा इंस्पेक्टर विजय प्रताप सिंह, एस आई विनित सिंह, दिग्विजय सिंह , हेड कान्सटेबल राकेश तिवारी, देवपुजन चौबे, पारस यादव, लल्लन यादव, वकील गौड़, विजय गौड मौजुद रहे। पुलिस अधिक्षक द्वारा छापेमारी को लेकर नगर समेत चहुओंर स्थानीय लोगों ने पुलिस की कार्यवाही पर संतोष जाहिर करते हुए, निष्पक्ष कार्यवाही के लिए बधाई दिया। जुआरियो के समर्थको को ओबरा विधायक एक सहयोगी द्वारा छापेमारी कराई जाने की सुचना मिलते ही उनके आवास पर जाने की रणनिति बनाई जाने लगी। यह खबर पुलिस विभाग को मिलते ही सोमवार की रात्रि ग्यारह बजे चोपन पुलिस ओबरा विधायक के घर पहुंच गई और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।