ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
सोनभद्र :: हिंडालको गेट पर श्रमिकों के लिए लगे नोटिस बोर्ड को हटाए जाने के विरोध में रंजीत कुमार सिंह अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर
December 12, 2019 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

अनूप श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी, सोनभद्र। रेणुकूट के एक निजी संस्थान के द्वारा श्रमिकों के लिए लगे नोटिस बोर्ड को हटाए जाने के विरोध में रंजीत कुमार सिंह ने आज को सुबह से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर हिंडालको गेट पर बैठ गए हैं। उन्होंने कहा कि जब तक नोटिस बोर्ड को पुनः स्थापित नहीं किया जाएगा तब तक यह भूख हड़ताल जारी रहेेगी।

बता दें कि रंजीतसिंह ने समस्त आम जनमानस श्रमिक भाई की भावनाओं को कदर करते हुए प्रबंधन द्वारा सालों से लगे नोटिस बोर्ड को हटाने के संदर्भ में अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर धरने पर बैठे हैं। रंजीत सिंह ने कहा कि प्रबंधन का तर्क है कि नोटिस बोर्ड से दुर्घटनाएं होने का डर है लेकिन प्रबंधन यह नहीं बताता की 70 के दशक से लगे इस नोटिस बोर्ड के कारण कितनी बार दुर्घटना हुई कितने लोग घायल हुए और कितने लोगों की मृत्यु हुई है। उन्होंने कहा कि मजदूर नोटिस बोर्ड पर सूचना लगाते थे ताकि प्रबंधन तक इस बोर्ड के द्वारा सूचना पहुंच जाए। वहींं प्रबंधन का कहना है कि बाहरी लोग मजदूरों को इस नोटिस बोर्ड पर सूचना लगाकर भड़काते हैं। आगे श्री सिंह ने बताया कि संविधान की धारा 19 के तहत हर भारतीय नागरिक को अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता देती है। नोटिस बोर्ड फैक्ट्री एक्ट की धारा 108 के तहत मुख्य द्वार पर लगा था वह असहमति के अधिकार को सुनिश्चित करता था। उस पर लगी नोटिसे प्रबंधन को भी औद्योगिक विवाद के संबंध में बताकर उसे हल करने में मदद करते थे और औद्योगिक शांति स्थापित करते थे। प्रबंधन द्वारा नोटिस बोर्ड हटाकर प्रबंधन औद्योगिक अशांति पैदा करने की कोशिश कर रहा है। जिसके आने वाले दिनों में गंभीर परिणाम निकलेंगे। हमारी अभिव्यक्ति की आजादी पर हमला करने की कार्यवाही वापस ले नोटिस स्थापित करें या हमें स्थापित करने की आजादी दे। बेहतर लोकतांत्रिक वातावरण उत्पादन और हिंडाल्को के विकास के लिए यह अति आवश्यक है। श्री सिंह ने हिंडाल्को प्रशासन को चेताया कि अगर यह नोटिस वापस स्थापित नहीं होगा तो अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल जारी रहेगा। इसकी सारी जिम्मेदारी हिंडालको प्रशासन की होगी। इस अवसर पर नगर अध्यक्ष अखिलेश सिंह, जिला सचिव विनय सिंह, महिला जिला महासचिव नीतू सिंह, मंधरी खरवार आदि मजदूर उपस्थित रहेे।