ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
मिर्जापुर :: संपूर्ण समाधान दिवस समाधान दिवस के अवसर पर जन समस्याओं को सुनने के बाद डीएम ने अनुपस्थित 393 लेखपालों का वेतन रोकने का दिया निर्देश
December 17, 2019 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी, मिर्जापुर। जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक ने सदर तहसील में संपूर्ण समाधान दिवस समाधान दिवस के अवसर पर जन समस्याओं को सुनने के बाद जनपद में चारों तहसील में अनुपस्थित 393 लेखपालों का वेतन रोकने का डीएम ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया। आईजीआरएस का निस्तारण ना होने पर डीएम ने अधिकारियों की जमकर क्लास भी लगाई।

जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल व पुलिस अधीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह एवं मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन तहसील सदर में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर आए हुए फरियादियों की समस्याओं को सुना तथा समय सेे निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। वहीं जनपद के चारों तहसीलों में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में अनुपस्थित 393 लेखपालों का वेतन संबंधित उप जिला अधिकारी के द्वारा रोकने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। संबंधित उप जिलाधिकारी से वार्ता के दौरान बताया कि तहसील सदर में १३९ इसी प्रकार तहसील चुनार में ११४, तहसील लालगंज में ८२ तथा तहसील मडिहान में ५५ लेेखपालों के वेतन रोकने की कार्रवाई की गई है। जिलाधिकारी के समक्ष कुुल ७६ लोगों ने अपनी समस्याओं से अवगत कराया जिसमें ०६ का मौके पर निस्तारित कर शेष को संबंधित अधिकारियों को निस्तारित करने का निर्देश जारी किया गया।अधिकारियों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस के द्वारा प्राप्त प्रार्थना पत्रों को कतिपय अधिकारियों के द्वारा गंभीरता से नहीं लिया जा रहा है जिसके कारण आईजीआरएस में लंबित प्रकरणों की संख्या अधिक हो रही है उन्होंने अधिकारियों की क्लास लेते हुए कड़ी हिदायत दी कि आईजीआरएस के प्रकरणों के निस्तारण की समीक्षा की जाएगी। उन्होंने कहा कि 2 दिन के अंदर सभी प्रकरण निस्तारण करें। आगे डीएम नेे हिदायत दिया कि  जिस विभाग के पास अधिक लंबित या डिफाल्टर शिकायत पाया जाएगा तो उसके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस व आइजीआरएस सहित अन्य माध्यमों से प्राप्त शिकायतों को अधिकारी स्वयं अवश्य देखें अधिनस्थ के भरोसे ना रहेंं।

इस अवसर पर जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने सभी अधिकारियों से यह भी कहा कि नागरिकता कानून संशोधन नियम को लेकर जगह-जगह पर विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं तथा कुछ अराजक लोगों द्वारा अफवाह फैलाकर युवा वर्ग को गुमराह किया जा रहा है। सभी अधिकारियों को क्षेत्रवार नोडल अधिकारी नामित किया गया है वे अपने निर्धारित क्षेत्र में गतिशील रहकर लोगों के साथ संवाद बनाए रखें, कहीं भी किसी प्रकार किसी के द्वारा यदि अफवाह फैलाने व गुमराह करने का कार्य किया जाता पाया जाए या सूचना प्राप्त हो तो तत्काल कार्यवाही करें। उन्होंने कहा किसी भी दशा में जनपद में कानून व्यवस्था बिगड़ने न पाए इसके लिए विशेष निगरानी बढ़ती जाए। इस अवसर पर प्रभागीय वन अधिकारी बीके चौधरी, उप जिला अधिकारी गौरव श्रीवास्तव, तहसीलदार ओमप्रकाश पांडे, उपायुक्त एवं जिला पंचायत राज अधिकारी पीके सिंह, उप निदेशक कृषि डॉ अशोक कुमार उपाध्याय, जिला पंचायत अधिकारी अरविंद कुमार, अधिशासी अभियंता विद्युत मनोज यादव के अलावा सभी विभागों के जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।