ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
मिर्जापुर :: राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ एवं राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के प्लान आफ एक्शन के तहत विधिक जागरूकता शिविर का किया गया कार्यक्रम
February 21, 2020 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, मिर्जापुर। उत्तर प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ एवं राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली के प्लान आफ एक्शन के तहत जनपद न्यायाधीश सुरेंद्र कुमार सिंह के निर्देशन पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण मिर्जापुर के तत्वधान में ग्राम करणपुर के प्राथमिक विद्यालय के प्रांगण में विधिक जागरूकता शिविर कार्यक्रम का शुभारंभ पूर्णकालिक सचिव डी.एल.एस.ए अमित कुमार यादव ने मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलन कर किया।विधिक जागरूकता शिविर कार्यक्रम में उपस्थित ग्रामीण जनता को संबोधित करते हुए पूर्णकालिक सचिव अमित कुमार यादव ने बताया कि उत्तर प्रदेश पीड़ित क्षतिपूर्ति योजना 2014 के अंतर्गत अपराध में पीड़ित क्षतिपूर्ति के हकदार होंगे और गरीबों को निशुल्क सहायता उपलब्ध कराना सरकार का कर्तव्य है। इस संबंध में संविधान के अनुच्छेद 39 एसीपीसी के आदेश 33 नियम 17 व द.प्र.सं. के धारा 304 का उल्लेख किया गया है और सरकार द्वारा जारी ग्रामीण लाभ योजना ग्रामीण जनों के लिए ही है न कि अन्य लोगों के लिए है। ग्रामीण को सरकारी लाभ मिलने में असुविधा होती है तो वह जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के कार्यालय में प्रार्थना प्रस्तुत करने पर संबंधित विभाग से जानकारी ली जाएगी कि किन परिस्थितियों में लाभ नहीं प्रदान किया गया और ग्रामीणों एवं गरीब जनता को जिससे अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ी जाति व सामान जाति वर्ग के महिला व पुरुष को न्यायालय में दर्ज मुकदमे की पैरवी हेतु सरकारी अधिवक्ता मुहैया कराया जाएगा। इसके लिए भी कार्यालय में अथवा न्यायालय के जज साहब के सामने प्रार्थना पत्र प्रस्तुत करने पर सरकारी खर्चे पर अधिवक्ता मुहैया कराया जाएगा। साथ ही लोक अदालत के फायदों को विस्तार से जानकारी दिया गया। शिविर में खंड शिक्षा अधिकारी महेंद्र मौर्य, बाल विकास परियोजना अधिकारी रितु यादव एवं श्रीमती नगीना सिंह ने शिक्षा, स्वास्थ्य व योजना के संदर्भ में 5 वर्ष से 16 वर्ष के बच्चों के लिए निशुल्क शिक्षा प्रदान करने का सरकारी योजना, बच्चों को निशुल्क किताब मौजूदा एवं प्रत्येक प्राथमिक विद्यालय पर बच्चों को दिया जाता है और बच्चे साफ-सफाई एवं पढ़ने पर ध्यान दें इसकी जानकारी दिया।