ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
मिर्जापुर :: मंडलीय विकास कार्य की समीक्षा बैठक की में निर्माण कार्य समय से पूरा न करने पर चार कार्यदाई एजेंसीयों को मंडलायुक्त ने दिया कठोर चेतावनी
February 12, 2020 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, मिर्जापुर। आयुक्त विंध्याचल मंडल श्रीमती प्रीति शुक्ला ने अपने कार्यालय के सभागार में मंडल के तीनों जिलों में कराए जा रहे उत्तर प्रदेश शासन द्वारा संचालित महत्वपूर्ण योजनाओं व विकास कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान गोवंश आश्रय स्थलों की स्थिति, विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की समीक्षा सहित कानून व्यवस्था, नगर में ट्रैफिक व्यवस्था, नगरीय क्षेत्रों में गोवंश आश्रय, सफाई व्यवस्था, मार्ग प्रकाश, अतिक्रमण से मुक्ति, पॉलिथीन पर प्रतिबंध एवं ओडीएफ अधिकारियों की समीक्षा की।समीक्षा बैठक में मंडलायुक्त ने स्वास्थ्य विभाग के निर्माणाधीन स्वास्थ्य भवनों के निर्माण की प्रगति पर सोनभद्र में कम प्रगति पर आयुक्त ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए परियोजना प्रबंधक सीएनडीएस, परियोजना प्रबंधक राजकीय निर्माण निगम वाराणसी विंग, परियोजना प्रबंधक राजकीय निर्माण निगम सोनभद्र, तथा आवास विकास परिषद को कठोर चेतावनी देते हुए संबंधित विभाग के विभागाध्यक्ष को पत्राचार कर अवगत कराने का निर्देश दिया। बैठक में बताया गया कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के निर्माण में जनपद सोनभद्र में सीएमडीएस के द्वारा चार कार्य किए जा रहे हैं। जिसमें से 3 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के मुख्य भवन को हैण्डओवर बताया गया। जबकि आवासी भवन पूर्ण नहीं किया गया है। इसी प्रकार विकासखंड कोन सोनभद्र में निर्माण प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ना तो ओवरहेड टैंक और न हीं बाउंड्री वाल बनाया गया जिसपर जिलाधिकारी सोनभद्र व मुख्य चिकित्साधिकारी ने आयुक्त को जानकारी दी। इसी प्रकार राजकीय निर्माण निगम वाराणसी व सोनभद्र तथा आवास विकास परिषद के द्वारा कार्यों में लापरवाही व समय से पूर्ण न होने पर कठोर चेतावनी देने का निर्देश दिया गया। निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान पैक्सफेड के द्वारा १२ कार्य बताया गया। जिसमें जिलाधिकारी सोनभद्र ने बताया कि ०६ कार्य २००८ तथा ०३ कार्य २०११ व ०३ कार्य२००१५ के हैं। जिसमें समय से पूर्ण न होने की स्थिति में रिवाइज स्टिमेट भेजा गया। जिस पर आयुक्त ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य विकास अधिकारी सोनभद्र को निर्देशित किया कि। आरईएस के इंजीनियर के साथ सभी कार्यो का सत्यापन कर रिपोर्ट दें। यदि लेट कार्य होने से रिवाइज स्टीमेट भेजा गया तो संबंधित के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही हेतु संस्तुति करें।आयुक्त ने कहा कि किसी भी संस्था के द्वारा समय से कार्य पूर्ण न करने पर तथा बिना किसी कारण के रिवाइज ईस्टिमेंट भेजा जाता है तो उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान गोवंश आश्रय की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी गोवंश स्थलों में पशुओं के लिए पर्याप्त भूसा, चारा व पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि संबंधित पशु चिकित्सकों के द्वारा नियमित रूप से पशुओं के स्वास्थ्य की जांच की जाए। 14वां वित्त और राज्य वित्त आयोग के द्वारा कराए जा रहे कार्यों के बारे में जनपद सोनभद्र में कायाकल्प योजना में प्रगति लाने का दिशा निर्देश दिया गया। वहीं 102 व 108 एंबुलेंस सेवा को समय निर्धारित करने का भी निर्देश दिया गया। मुख्यमंत्री समग्र विकास ग्राम योजना के तहत बताया गया कि जनपद भदोही में 4 गांव व सोनभद्र में एक गांव मे संपर्क मार्ग की प्रगति कम है। जिसके कार्य में तेजी लाते हुए फरवरी माह के अंत तक पूर्ण करने का निर्देश दिया गया। जनपद मिर्जापुर की प्रगति संतोष प्रद पाया गया। आंगनबाड़ी केंद्रों के निर्माण में बताया गया कि जनपद मिर्जापुर एम भवन अपूर्ण है जिसमें स्थान का विवाद था। अब विवादित स्थान को बदलकर दूसरी स्थान प्राप्त हो गई है। जल्द पूर्ण करा लिया जाएगा। इस प्रकार भदोही में 2 आंगनबाड़ी केंद्रों के निर्माण को फरवरी के अंत तक पूर्ण करने का निर्देश दिया गया। बैठक में प्रधानमंत्री आवास में किसी के द्वारा पैसे के लेनदेन की शिकायत को गंभीरता से जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया तथा आवास व शौचालयों को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराने का भी निर्देश दिया गया। बैठक में पेंशन, छात्रवृत्ति, स्ट्रीट लाइट, अमृत योजना, सामूहिक शादी योजना, संस्थागत प्रसव, आशाओं के भुगतान की स्थिति, राशन वितरण प्रणाली सहित सभी योजना पर बिंदुवार समीक्षा की गई। इस दौरान कानून व्यवस्था व राजस्व वादों का निस्तारण, कर एवं करेत्तर वसूली की समीक्षा भी की गई तथा फरवरी माह के अंत तक लक्ष्य पूर्ति करने का निर्देश मंडलायुक्त द्वारा दिया गया। बैठक में आईजी पीयूष श्रीवास्तव, जिलाधिकारी मिर्जापुर सुशील कुमार पटेल, सोनभद्र एस. राज लिंगम, भदोही राजेंद्र प्रसाद, पुलिस अधीक्षक मिर्जापुर, सोनभद्र व भदोही, संयुक्त विकास आयुक्त ओमप्रकाश पांडेय, मुख्य विकास अधिकारी मिर्जापुर अविनाश सिंह, सीडीओ भदोही व सोनभद्र तीनों जिलों के एडीएम के अलावा अन्य सभी मंडलीय अधिकारी उपस्थित रहे।