ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
मिर्जापुर :: किसान दिवस में नहरों की सफाई व मरम्मत एवं धान क्रय केंद्र का छाया रहा मुद्दा जिलाधिकारी ने सभी समस्याओं का निस्तारण के दिए निर्देश, धान क्रय में जितना तौल है उतने का करें भुगतान तौल के बाद नहीं होगी कटौती : जिलाधिकारी
January 15, 2020 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, मिर्जापुर। जिला अधिकारी सुशील कुमार पटेल व मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन ने आज विकास भवन कार्यालय के सभागार में आयोजित किसान दिवस में उपस्थित होकर किसानों की समस्याओं को सुना तथा त्वरित निस्तारण के निर्देश दिए। किसान दिवस में धान क्रय केंद्रों पर बोरा न होना तथा किसानों के धान का भुगतान न होने की समस्या पर जिलाधिकारी ने प्रबंधक पीसीएफ को निर्देशित किया कि प्रत्येक केन्द्रवार भुगतान की स्थिति, केंद्रों पर आवश्यक सुविधाओं के बारे में समस्त जानकारी के साथ 20 जनवरी को दोपहर 1:00 बजे धान क्रय से संबंधित बैठक में उपस्थित होकर जानकारी दें। इस बैठक में किसानों के प्रतिनिधियों को भी जिलाधिकारी द्वारा आमंत्रित किया गया।जिलाधिकारी कहा कि जिस किसान का धान नमी मापक के बाद जीतने का तौल किया जाएगा उतने का ही भुगतान दिया जाएगा, किसी भी प्रकार की कटौती नहीं की जाएगी। किसानों द्वारा यह भी अवगत कराया गया कि सहकारी समितियों पर उर्वरक नहीं है। किसी समिति का खाद अन्यत्र भेज दिया जा रहा है, जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारी को प्रत्येक समितिवार विवरण की मांग करते हुए सभी समितियों पर तत्काल उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। बैठक में सदानंद सिंह किसान, गोपाल दास गुप्ता, राममहाल सिंह पटेल, मोहम्मद राशिद आदि लोगों ने अपने-अपने क्षेत्रों के नहरों के मरम्मत तथा सफाई की मांग करते हुए कहा कि नहरों के लीकेज को ठीक कराया जाए जिससे पानी टेल तक पहुंच सके। गोपाल दास गुप्ता ने रजौली धान क्रय केंद्र पर तौल में गड़बड़ी की शिकायत की पडरी विकासखंड में पांच लिफ्ट कैनाल लो वोल्टेज होने के कारण ना चलने की शिकायत किसानों द्वारा किया गया। एक कृषक के द्वारा जरगो नहर पर कलकलिया पुल को सुरक्षित रखने के लिए नहर वाले पुल के बगल में रोड को बनाने की मांग की गई। इस प्रकार नहर हेड पर 200 मीटर तक की पक्की रोड का निर्माण तथा माइनर पर के फाल के कटान की मरम्मत करने की मांग की गई। धान के केंद्रों पर धान के मूल्य का भुगतान की भी मांग की गई। इस अवसर पर जनपद के विभिन्न विकास खंडों से आए कृषकों के द्वारा अपनी समस्याओं से जिलाधिकारी को अवगत कराया गया। जिस पर जिलाधिकारी ने सभी संबंधित अधिकारियों से कहा कि जिस विभाग से संबंधित शिकायतें आज आई हैं अधिकारी अगले किसान दिवस के पूर्व किसी भी दशा में निस्तारण करा लें।

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ने कहा कि किसानों की समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कराया जाएगा। इस दौरान उप निदेशक कृषि डा. अशोक कुमार उपाध्याय, जिला कृषि अधिकारी पवन कुमार प्रजापति, अधिशासी अभियंता विद्युत, सिंचाई, लोक निर्माण विभाग सहित सभी विभाग के अधिकारी उपस्थित रहे।