ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
मिर्जापुर :: ग्रामीण महिलाओं को आत्मनिर्भर एवं स्वावलंबी बनाना ही एन.आर.एल.एम का उद्देश्य है : राम सकल
December 16, 2019 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी, मिर्जापुर। ग्रामीण निर्धनता को समाप्त करना रोजगार को बढ़ावा देना तथा गांव की गरीब महिलाओं को आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनाना हीं एन.आर.एल.एम का मुख्य उद्देश्य है। आज प्रेरणा दिवस के अवसर पर समूह की महिलाओं को ०६,५७,५०,५००(छ: करोड़ सत्तावन लाख पचास हजार पांच सौ) रुपये का चेक देकर सम्मानित किया गया। उक्त बतेंं आज ग्रामीण आजीविका मिशन मिर्जापुर के द्वारा आयोजित प्रेरणा दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में सांसद रामसकल ने व्यक्त की।इस अवसर पर उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार गांव के गरीब व बेरोजगार महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाकर महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देकर उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोड़ने के उद्देश्य से कार्य कर रही है। इसी क्रम में एन.आर.एल.एम के द्वारा गांव में महिलाओं का समूह बनाकर उन्हें किसी न किसी ट्रेड से प्रशिक्षित कर रोजगार दिलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि मिशन का दृढ़ विश्वास है कि निर्धनों में निर्धनता से बाहर आने के अंतर्निहित क्षमताएं और मजबूत इच्छाशक्ति होती है। रामसकल ने कहा कि ग्रामीण निर्धनों के स्वयं सहायता समूह इस उद्देश्य को प्राप्त करने के लिए नीव का पत्थर साबित हो रहा है। आगे कहा कि हम सभी निर्धन परिवारों तक पहुंचकर उनका तक विकास करना जब तक कि वे निर्धनता के मकड़जाल से बाहर ना आ सके और एक सम्मानजनक जीवन की अनुभूति न करने लगे, मिशन का यही उद्देश्य है। उन्होंने मिशन में लगे सभी अधिकारियों कर्मचारियों को निष्ठा पूर्वक कार्य करते हुए अधिक से अधिक महिलाओं को जोड़कर स्वरोजगार बनाने पर बल दिया तथा कहा कि बैंकर्स भी अपना भरपूर सहयोग प्रदान करें। इस अवसर पर सांसद रामसकल व मुख्य विकास अधिकारी के द्वारा समूह की महिलाओं को ऋण के रूप में ०६,५७,५०,५००(छ: करोड़ सत्तावन लाख पचास हजार पांच सौ) रुपये का चेक प्रदान किया गया। इस अवसर पर प्रभारी जिलाधिकारी/मुख्य विकास अधिकारी प्रियंका निरंजन ने कहा कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की महिलाओं को केवल आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाना नहीं अपितु सामाजिक राजनीतिक दृष्टि से भी सशक्त करते हुए उनके समग्र व्यक्तित्व का विकास करना है। उन्होंने कहा कि एन.आर.एल.एम. द्वारा गरीब महिलाओं में उनके परिवारों का स्वयं सहायता समूह के माध्यम से जीवन स्तर ऊपर उठाने का प्रयास किया जा रहा है। इस दिशा में जनपद के कई समूहों के द्वारा स्वरोजगार की ओर अच्छा कदम उठाया जा रहा है। आगे बताया कि समूह की महिलाओं द्वारा कई स्थानों पर रहना कैन्टी, प्रेरणा एक्सप्रेस, परचून की दुकान, पशुपालन, दरी व कालीन उद्योग सहित कई दिशा में कार्य कर अपना जीवन स्तर को समाज की मुख्यधारा से जोड़ कर सम्मानजनक जीवन के रूप में व्यतीत कर रही हैं। इस अवसर पर समूह में अच्छे कार्य करने वाली महिलाओं के द्वारा अपनी सफलता की कहानी के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। इस प्रेरणा दिवस के अवसर पर समूह को समय से ऋण उपलब्ध कराने व अच्छे कार्य तथा समूह की महिलाओं के द्वारा अच्छे कार्य के लिए प्रशस्तिपत्र व स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर उपायुक्त एवं डॉ घनश्याम गुप्ता के द्वारा सभी अतिथियों का स्वागत करते हुए कार्यक्रम की योजना के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की गई। कार्यक्रम का सफल संचालन विनोद कुमार श्रीवास्तव कोऑर्डिनेटर स्वच्छ भारत मिशन ने किया। इस दौरान सभी खंड विकास अधिकारी, जिला विकास अधिकारी एन मिश्रा, जिला सूचना अधिकारी ओमप्रकाश उपाध्याय, प्रबंधक लीड बैंक के अलावा अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। प्रेरणा दिवस में आज लगभग दो हजार से अधिक महिलाओं ने हिस्सा लेकर मिशन के बारे में जानकारी प्राप्त की।