ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
मिर्जापुर :: ग्राम पंचायत में चौपाल लगाकर डीएम ने विकास कार्यों का जाना हाल
January 22, 2020 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, मिर्जापुर। जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल द्वारा विकासखंड लालगंज के अंतर्गत ग्राम पंचायत रामपुर वासीद अली मैं चौपाल लगाकर गांव में कराए गए विकास कार्यों के बारे में उपस्थित ग्रामीणों से जानकारी ली गई। इस दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि सरकार द्वारा आम जनता के लिए विभिन्न प्रकार के जनकल्याणकारी योजना चलाई जा रही है, उन्होंने कहा कि शाम तक संबंधित ग्राम पंचायत अधिकारी व लेखपाल गांव में रहेंगे। जिससे किसी को भी किसी योजना का लाभ न मिला हो और वह उसके पात्र है तो अपना नाम लिखवा दें, उसे योजना का लाभ दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि संबंधित लेखपाल व ग्राम पंचायत अधिकारी पात्र व्यक्ति को आवेदन करा कर नियमानुसार कार्रवाई कर योजना का लाभ दिलाना सुनिश्चित करें।इस दौरान परियोजना निदेशक ऋषिमुनि उपाध्याय ने चौपाल में बताया कि 2715 आबादी वाली ग्राम में 331 अनुसूचित जाति की आबादी है। गांव में दो मजरे हैं जो संपर्क मार्ग से जुड़ा है तथा गांव में 3 सड़क आवागमन के लिए बनाया गया है, गांव विद्युतीकरण से संतृप्त है, 5 ट्रांसफार्मर लगाकर 71 लोगों को कनेक्शन दिया गया है। जिस पर ग्रामीणों ने एक ट्रांसफार्मर खराब बताया। वहीं अधिशासी अभियंता विद्युत ने बताया कि चार ट्रांसफार्मर से आपूर्ति की जा रही है। एक ट्रांसफार्मर का पोल टूटने के कारण खराब है उसे जल्द बनवा दिया जाएगा। चौपाल में बताया गया कि गांव में 257 लोगों को स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत शौचालय से सूचित किया गया है तथा 61 लोगों को ग्राम प्रधान मंत्री ग्रामीण आवास से लाभन्वित किया गया है तथा इस वित्तीय वर्ष के लिए 86 लोगों को और चयन प्रधानमंत्री आवास के लिए किया गया है, इसी प्रकार मुख्यमंत्री आवास के लिए मुसहर बस्ती में 8 लोगों को लाभान्वित किया गया है, जिनका आवास छत स्तर तक पूर्ण हो चुका है। 10 दिन के अंदर से पूर्ण कराने का निर्देश दिया गया। गांव में 60 हैंडपंप लगे हैं, ग्रामीणों द्वारा बताया गया सभी चालू है। गांव में एक विद्यालय है जिसमें पुस्तक, स्वेटर, जूता-मोजा सभी बच्चों को वितरण बताया गया। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने आयुष्मान भारत व गोल्डन कार्ड बनवाने के बारे में विस्तृत जानकारी दी। गांव में एक आंगनबाड़ी केंद्र संचालित है पोषाहार का वितरण समय से किया जा रहा है। मनरेगा के अंतर्गत एक तालाब वह दो नाली का निर्माण कराया गया है। इसी प्रकार एनआरएलएम योजना अंतर्गत पांच समूह का गठन किया गया है। पेंशन योजना के अंतर्गत 22 महिलाओं को विधवा पेंशन, 34 वृद्धा पेंशन लोगों को दिया जा रहा है तथा गांव में 12 और वृद्धा पेंशन के लिए चयन किया गया है। इसी प्रकार दिव्यांग पेंशन के अंतर्गत 11 पात्र लोगों को किया जा रहा है। पात्र गृहस्थी 318 तथा 79 कार्ड अंत्योदय के बनाए गए हैं। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि कोटेदार द्वारा राशन मिट्टी का तेल अन्य वस्तुएं समय से प्रदान की जा रही हैं।जिलाधिकारी ने ग्रामीणों से कहा कि जो भी काम गांव में कराया जा रहा है वह ग्रामीणों के लिए ही है। इस चीज का ध्यान अवश्य करें कि जो काम गांव से प्रस्तावित किया गया है वह धरातल पर दिखाई दे तथा उसकी गुणवत्ता सही रहे। यदि कहीं किसी को कमियां दिखाई पड़ती है तो उसका शिकायत खंड विकास अधिकारी, उप जिलाधिकारी व जिलाधिकारी से कर सकता है ताकि उस पर उचित कार्रवाई करते हुए गुणवत्ता को बरकरार रखा जाए। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ ओपी तिवारी, अपर पुलिस अधीक्षक अजय सिंह, जिला विकास अधिकारी केएन मिश्र, परियोजना निदेशक ऋषिमुनि उपाध्याय, जिला पूर्ति अधिकारी उमेश चंद्र के अलावा सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।