ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
मिर्जापुर :: बसई ग्राम में डीएम ने लगाया चौपाल, विकास कार्यों का जाना हाल
February 5, 2020 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

अन्नपूर्णा श्रीवास्तव, मिर्जापुर। जिला अधिकारी सुशील कुमार पटेल ने संपूर्ण समाधान दिवस के बाद पटेहरा विकासखंड के अंतर्गत ग्राम बसई के प्राथमिक विद्यालय पर चौपाल लगाकर गांव में कराए गए विकास कार्य व पात्र लाभार्थियों को मिल रहे जन कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने उपस्थित ग्रामीणों की समस्याओं को सुना था उसके निस्तारण के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।

इस दौरान परियोजना निदेशक ऋषिमुनि उपाध्याय ने जिलाधिकारी को बताया कि 1827 आबादी वाले इस गांव में विद्युतीकरण के लिए 10 ट्रांसफार्मर लगाकर 305 लोगों को कनेक्शन दिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि गांव में जो लोग कनेक्शन लेने से छूटे हुए हैं और वह विद्युत कनेक्शन लेना चाहते हैं तो संबंधित जेई गांव में सर्वे कर उन्हें विद्युतीकरण से आच्छादित करें। वही पीढ़ी ने बताया कि स्वच्छ पेयजल के लिए गांव में 33 हैंडपंप लगाए गए जिसमें 7 हैंडपंप विगत 6 माह से रिबोर योग्य हैं, जिसे 1 सप्ताह के अंदर ठीक कराने का निर्देश जिलाधिकारी ने दिया। इसी प्रकार बताया गया कि गांव में उच्च प्राथमिक विद्यालय है जिसमें सभी छात्रों को जूता, मोजा, पाठ्य पुस्तक का वितरण किया जा चुका है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि ग्राम में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नहीं है। ग्रामीणों ने शिकायत करते हुए कहा कि गांव में एएनएम नहीं आती है जिसके कारण से टीकाकरण आज तक नहीं लग पाया है, जिस पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को कहा कि तत्काल कैंप लगाकर टीकाकरण कराया जाए व एएनएम को गांव में नियमानुसार भ्रमण करने हेतु निर्देशित किया जाए। कुपोषण की जानकारी पर बताया गया कि गांव में दो बच्चे लाल श्रेणी के हैं जिसे नियमानुसार इलाज कराया जा रहा है। पोषाहार का वितरण किया जा रहा है विधवा पेंशन के चार दिव्यांगजन के 9 लाभार्थियों को पेंशन योजना से आच्छादित किया जा रहा है। डीएम द्वारा सभी नाम पुकार कर पेंशन मिलने के बारे में जानकारी ली गई। जिला पूर्ति विभाग के द्वारा बताया गया कि गांव में राशन समय से मिल रहा है परंतु मिट्टी का तेल का वितरण नहीं किया जा रहा है जिस पर जिला पूर्ति अधिकारी को जांच के निर्देश दिए गए। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने चावल व गेहूं के दाम के बारे में भी ग्रामीणों से जानकारी प्राप्त की। जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया कि उक्त गांव में 272 पात्र गृहस्थी कार्ड बनाए गया है। प्रधानमंत्री आवास में वित्तीय वर्ष 2016-17 में 12 व 2017-18 में 25 तथा 2018-19 में व 2019-20 में 1-1 आवास बनाए गए हैं। गांव में कुल 58 शौचालय बनवाए गए हैं। मनरेगा के तहत चार कार्य जिसमें वृक्षारोपण, पशु रखने के लिए शेड आदि का कार्य कराया जा रहा है। 14 वें वित्तीय मद के 13 कार्य कराए गए हैं जिसमें ग्रामीणों से जानकारी पर कार्य किया हुआ बताया गया। गांव में दो सफाई कर्मी तैनात है। एन.आर.एल.एम के तहत 9 सहायता समूह बनाकर महिलाओं को स्वरोजगार से लाभान्वित किया जा रहा है। तदुपरांत जिलाधिकारी ग्राम बसई में भ्रमण कर विकास कार्य व प्रधानमंत्री आवास शौचालय आदि को देखा तथा ग्राम प्रधान को निर्देशित किया कि गांव में बच्चों को खेलने के लिए खेल मैदान हेतु जमीन की तलाश की जाए।इस अवसर पर जिलाधिकारी द्वारा गांव के ही कृषक शिवप्रसाद के खेत में जाकर स्किंंकलर मशीन को देखा तथा मशीन से होने वाली सिंचाई विधि को भी निरीक्षण किया। कृषक शिव प्रसाद के द्वारा एक हेक्टेयर में टमाटर व अन्य सब्जी की खेती की जा रही है। जिसमें स्किंंकलर मशीन के द्वारा सिंचाई की जा रही है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अविनाश सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर ओपी तिवारी, जिला पंचायत राज अधिकारी अरविंद कुमार के अलावा सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।