ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
मझौलिया(पश्चिम चंपारण) :: पुत्र प्राप्ति की कामना से की जाती है भगवान शिव को दूध से अभिषेक
February 21, 2020 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

विजय कुमार शर्मा, बिहार, मझौलिया(पश्चिम चंपारण)। भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए हमारे ऋषि महर्षि ने कई अनेक उपाय बताए हैं जिससे करने से भक्तों की सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती है शिवरात्रि के दिन अभिषेक करने का कुछ विशेष ही महत्व है इस दिन मां पार्वती एवं भूत भावन भगवान आशुतोष विशेष रूप से मिलन होता है इस दिन रात्रि में भगवान शिव मां पार्वती का अभिषेक एवं सिंगार करें सौभाग्यवती स्त्रियां अपने सौभाग्य की रक्षा एवं लंबी आयु के लिए उपवास रखती हैं इस दिन दूध से अभिषेक करने से पुत्र की प्राप्ति होती है ईख से अभिषेक करने से लक्ष्मी की प्राप्ति होती है अनारसे अभिषेक करने से खून संबंधी विकार नहीं होता है कुश के जड़ से अभिषेक करने से घर में रोग का नाश होता है हल्दी से अभिषेक करने से शत्रु का पराजय होता है इत्र से अभिषेक करने से यश की प्राप्ति होती है और चारों तरफ जय जय कार होता है भगवान शिव को बिल्वपत्र शमी पत्र मदार की माला पुष्प अकवन का पत्ता आदि चीजों से भाब्य श्रृंगार किया जाता है जो कन्याओं के विवाह में बाधा आती है वह अपने घर में ही मिट्टी का पार्थिव का निर्माण कर पूजन करें। उक्त बातें और पूजन विधि आचार्य गुड्डू कुमार पाठक राजाभार ने एक विशेष भेंटवार्ता में कहीं।