ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
कुशीनगरःःयोगी सरकार के भ्रष्टाचार मुक्त नारे को पलीता लगा रहे दरोगा ,ऑडियो हो रहा तेजी से वायरल
January 13, 2020 • aaditya prakash srivastava • अपराध

डेस्क.कुशीनगर।भारतीय जनता पार्टी सरकार का प्रदेश भ्रष्टाचार मुक्त नारे को तार-तार करने से ऐसे ही समाज के दरोगा तुले हुये हैं। जिससे प्रदेश की योगी सरकार के मंसूबे पर पानी फिरता दिख रहा है।

एक ऐसे दरोगा का ऑडियो वायरल हो रहा है जिसमें बार-बार दरोगा को एक लाख उन्तालीस हजार घूस देने की बात आरोपी द्वारा कही जा रही है ,लेकिन इस बात से दरोगा कहीं पर भी इनकार नहीं कर रहें है। वशर्तें उस व्यक्ति को जरूर अपने लहजे में धमकी दे रहें है कि वह इस बात को किसी और से कहने की हिमाकत न कर सके जिससे पोल खुल जाय। ऐसे में दरोगा भ्रष्टाचार को परवान चढ़ाने में लगें हुयें हैं। लेकिन आला अधिकारी भी इसकी जानकारी होने के बावजूद कार्यवाही सुनिश्चित करने से परहेज कर रहे हैं। जिससे पुलिस ब्यवस्था पर सवालिया निशान भी खड़े हो रहे हैं। रिश्वत को लेकर हो रहा है वायरल ऑडियो में दरोगा प्रदेश सरकार की मनसा पर पानी फेरने से नहीं बाज आ रहें हैं।

मालूम हो कि पड़रौना कोतवाली के सिधुआ चौकी प्रभारी के वायरल हो रहे ऑडियो में आरोपी ने बार-बार ₹1,39000 हजार की रकम अपने भाई के जरिए दिये जाने की बात कर रहा हैं,जबकि दरोगा द्वारा उस आरोपी को बार-बार धमकी के लहजे में बात कर रहे हैं, लेकिन रिश्वत लेने से इंकार नहीं कर रहे हैं। जिससे साफ जाहिर होता है कि इस रिश्वत का खेल दरोगा द्वारा खेला गया है। ऑडियो में पीड़िता के 164 का बयान का भी बात कही जा रही है, जबकि एक दूसरे से मुकदमे को लेकर बात कर रहें है लेकिन दरोगा उसे धमकाते हुए कहा हैं कि तुम्हारी अगर हैसियत है तू जाकर हाई कोर्ट से जमानत करा लो, वायरल आडियो में स्पष्ट सुनाई दे रहा है कि तुम्हारी हमेशा शिकायत आती है जिसमें पांच शिकायती पत्र मैं रखा हूं तुम्हारी इतनी मदद की लेकिन तुम अब बेअंदाज हो गए हो आरोपी ऑडियो वायरल में बार-बार कह रहा है कि मैं रूपया दूंगा और नाम किसी और का निकलेगा लेकिन दरोगा द्वारा इस बात पर एक बार भी ऑडियो में रूपया नहीं लेने की बात नहीं कहीं है। वही दरोगा मुकदमे से नाम निकालने को लेकर आला अधिकारियों की सहमति होने की बात कर रहे हैं। सवाल यह खड़ा होता है कि अगर ऐसे ही समाज को न्याय दिलाने वाले और उनकी रक्षा करने वाले अपने असली उद्देश्य से भटक कर रिश्वतखोरी में जुड़ जाएंगे तो भष्टाचार पर अंकुश लगाना मुश्किल हो जाएगा। दरोगा ने इस ऑडियो में भ्रष्टाचार की संलिप्तता को साफ-साफ जाहिर कर दिया है।पुलिस कप्तान से पुछे जाने पर बताया की दोषी बख्से नहीं जायेंगे मामला सही पाये जाने पर कार्रवाई सुनिश्चित की जायेगी।