ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
कुशीनगर :: जिलाधिकारी ने आमजन से निराश्रित गौवंशो हेतु प्रत्येक घर से दो रोटी और गुड़ का सहयोग करने का किया अपील
October 22, 2019 • aaditya prakash srivastava

आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी, कुशीनगर। स्थाई/अस्थाई गौ आश्रय स्थलों के आसपास के गांवों में जनसहभागिता को बढ़ावा देने व आमजन को प्रेरित कर निराश्रित गौ वंशो हेतु प्रत्येक घर से दो रोटी और गुड़ का सहयोग लेकर पुण्य की भागीदार बने। जिलाधिकारी ने प्रत्येक विकास खण्डों से 20-20 गौबंशों को संरक्षण हेतु आम जन को दिए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है इस कार्य को एक सप्ताह के अंदर लक्ष्य पूर्ण करें।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा गौ संरक्षण हेतु नामित नोडल अधिकारी डा0 प्रभात सिंह ने जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार सिंह के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में एक आवश्यक बैठक कर सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। नामित नोडल अधिकारी ने अवगत कराया कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने पूर्वांचल के प्रति चिंता जाहिर की गई है तथा जनपद कुशीनगर को मॉडल जनपद के रूप में विकशित करने हेतु समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया गया है।
नोडल अधिकारी द्वारा स्पष्ट किया गया कि गौ वंश से सम्बंधित जो भी बजट शासन से अवमुक्त हुआ है उसी में कार्य करना है, इसके लिए आश्रय स्थलों के आस पास गांवों में प्रत्येक घर से दो-दो रोटी गौ वंशो हेतु इकट्ठा करने तथा इस कार्य हेतु आम जन को जागरूक किये जाने का निर्देश दिए साथ ही उन्होंने नगर पालिका/विकास खण्ड सस्तर पर समाज सेवियों, उद्द्योग पतियों, व्यापारी गण आदि के साथ बैठक कर इस कार्य हेतु सहयोग लिए जाने का कार्य किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण का कार्य किया जा रहा है जिसमे गोबर का उपयोग के लिए वर्मी कम्पोस्ट खाद तैयार किया जाएगा तथा कृषकों के वीच उचित दर पर विक्री किया जाएगा ,वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने हेतु सभी खण्ड विकास अधिकारी को तत्काल कार्यवाही सुनिश्चित किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। उन्होंने बताया कि शासन की जो भी योजना है उसे किसानों तक पहुंचाया जाना है, उन्होंने पशुपालन विभाग द्वारा संचालित योजना के क्रम में बताया कि नए सीमन के प्रयोग करने हेतु कृषकों को जागरूक किया जाय ताकि अधिक से अधिक वाछिया की पैदावार हो। उन्होंने बताया कि जनपद में तीन दिन का कार्यक्रम निर्धारित है जिसमे जनपद के सभी स्थाई/,अस्थाई गौ वंश आश्रय स्थल का निरीक्षण किया जाएगा। जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार सिंह ने जनपद में संचालित सभी आश्रय स्थलों की जानकारी देते हुए बताया कि सभी स्थानों पर भूसे की उपलब्धता भरपूर है चारे की व्यवस्था हेतु आस पास के गांवों में चारे का वीज वितरण कराया जाना है ताकि हरे चारे की कमी न हो। डा0 सिंह ने सभी उप जिलाधिकारी गण/ खण्ड विकास अधिकारी व पुलिस विभाग सहित अन्य विभागों को जो भी जिम्मेदारी सौंपी गई है उसे हर हाल में समया अंतर्गत पूर्ण करें। जिलाधिकारी ने सभी को दिनांक 24 अक्टूबर 2019 को सायंकाल 5,30 बजे अद्यतन रिपोर्ट के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक हेतु उपस्थित होने का निर्देश दिया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनंद कुमार, उप जिलाधिकारी पड़रौना रामकेश यादव, हाटा प्रमोद कुमार, परियोजना निदेशक संजय पाण्डेय, जिला विकास अधिकारी शेषनाथ चौहान ,मुख्य पशु चिकितशाधिकारी एस के सिंह, जिला ग्रामोद्योग अधिकारी ए0के0 पाल, सहित सभी अधि0 अधिकारी नगर पालिका/नगर पंचायत आदि उपस्थित रहे।