ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
कुशीनगर :: देश के सबसे बड़े फैसले पर सतर्क रहा प्रशासनिक अमला, अधिकारी भ्रमण कर लेते रहे पल-पल की जानकारी
November 9, 2019 • aaditya prakash srivastava • देश
सुनील कुमार तिवारी, कुशीनगर केसरी, कुशीनगर। सुप्रीम कोर्ट के अयोध्या फैसले पर प्रशासनिक अमला पूरी तरह से सतर्क रहा ।एक सप्ताह से ही कुशीनगर की पुलिस फ्लैग मार्च ,अफसरों की मीटिंग धर्म गुरुओं के साथ बैठक कर फैसले को सर्व सम्मति से मानने का भरोसा दिलाते रहे पुरी तैयारी कर ली थी ,फैसला आने की दौरान जगह-जगह पुलिस के जवान तैनात किए गए थे ,वही मंडलायुक्त, आईजी डीएम और एसपी पल पल की जानकारी लेते रहे फैसले का लोगों ने स्वागत किया और शांतिपूर्ण तरीके से जनपद में फैसले का लोगों ने सम्मान किया और शांति बनाए रखें। इस दौरान कई नेताओं ने भी फैसले का स्वागत किया। एलआईयू विभाग पूरी भी तरह से नजर बनाए हुए था।
सर्वोच्च न्यायालय द्वारा राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद केस का निर्णय आने पर सद्भावना और सौहार्द बनाए रखने के लिए उच्च अधिकारियों द्वारा नगर में भ्रमण किया गया ।मंडलायुक्त जयंत नार्लीकर एवं आईजी जयनारायण सिंह सहित जिलाधिकारी कुशीनगर डा0 अनिल कुमार सिंह, व पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार मिश्र द्वारा जनपद के विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न संप्रदाय के लोगों से वार्ता की और सुप्रीम कोर्ट द्वारा जो निर्णय दिया गया उसको स्वीकार करने की अपील करते हुए कहा कि देश की एकता एवं सद्भाव बनाए रखने में सभी सहयोग करें और यही संदेश लोगों तक पहुंचाएं।
जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार सिंह एवं पुलिस अधीक्षक ने हाटा, कसया, पड़रौना आदि कस्बों में पैदल मार्च करते हुए स्थानीय लोगों से बात की और उन्होंने माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय को सहर्ष स्वीकार करने का सुझाव दिया। भ्रमण के दौरान उन्होंने क्षेत्र में तैनात सेक्टर मजिस्ट्रेट व पुलिस फोर्स को भी देखा और निर्देश दिए कि अपनी ड्यूटी स्थल पर मुस्तैद रहे । उन्होंने विभिन्न समुदाय के लोगों से कहा कि अफवाहों पर ध्यान ना दें, और न ही आपत्तिजनक पोस्ट करें। सोशल मीडिया को बड़ी संजीदगी से वॉच किया जा रहा है। यदि किसी ने भी अफवाह फैलाने के लिए कोई संदेश प्रसारित किया, तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने युवाओं से ताकीद करते हुए कहा कि भ्रामक संदेश को कतई फॉरवर्ड न किया जाए। उच्च अधिकारियों ने संदेश देते हुए कहा माननीय सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय का स्वागत करें।
जनपद/मंडल में एकता व सद्भाव बनाए रखने में सभी सहयोग करें। क्षेत्र में शांति और सद्भाव का वातावरण बनाए रखने के लिए जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है।