ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
कुशीनगर :: डीएम नेे कलेक्ट्रेट सभागार में असंगठित कामगारोंं के लिए संचालित पेंशन योजना की किया बैठक 
December 5, 2019 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

डेस्क, कुशीनगर केेेसरी, कुशीनगर। प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना एवं राष्ट्रीय पेंशन योजना की आवश्यक बैठक जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार सिंह की अध्यक्षता में आज कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न की गई।
बैठक में जिलाधिकारी डॉ0 सिंह ने कहा कि ऐसे कामगार जिनकी मेहनत देश का आधार है, उनको पेंशन देने का सपना सरकार ने साकार किया है। इसके तहत ऐसे कामगारो को 3 हजार रुपये प्रतिमाह 60 वर्ष की आयु से आजीवन भुगतान होगा, जिससे कि वे बढती उम्र में भी अपना भरण पोषण कर सकेगें उन्होंनेे कहा कि किसी भी योजना का उद्देश्य तभी पूर्ण होता है, जब उसका लाभ पात्रता की श्रेणी में आने वाले शतप्रतिशत लोगो को मिल सके।

इस दौरान जिलाधिकारी ने बताया कि इस योजना से जोडने के लिए नजदीकी कामन सेन्टर में आधार कार्ड व बचत/जनधन खातो के दस्तावेजो के साथ पहुॅचकर अपना पंजीकरण करायें। उन्होने कहा कि सामाजिक सुरक्षा के दृष्टिकोण के साथ संचालित यह योजना बहुत ही उपयोगी है, उन्होंने बताया कि इस योजना में रिक्शा चालक, फेरीवाला, लेबर, घरेलु कामगार, दर्जी वाले या इसी तरह के अन्य कामगार अपने नजदीकी कॉमन सेंटर से पंजीकरण अवश्य करा लें। उन्होंने कहा कि श्रमिकोंं के हितार्थ भारत/प्रदेश सरकार अनेकानेक योजनायें संचालित कर उन्हे लाभान्वित कराने का कार्य कर रही है। आवश्यकता यदि है तो बस इसकी है कि लोगो को इनके प्रति जागरुक किया जाये और वे इसका लाभ प्राप्त कर सके। श्री सिंह ने बताया कि 18 वर्ष से लेकर 40 वर्ष की आयु तक उम्र के अनुरुप पंजिकृत सदस्यों को उम्र के हिसाब से प्रतिमाह अंशदान के रुप में रुपये जमा करने होगें और 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने के उपरान्त उन्हे प्रति माह 3 हजार रुपये मिलना प्रारम्भ हो जायेगा।

इसी प्रकार उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय पेंशन योजना के लिये समस्त लघु व्यापारी,स्वरोजगार, दुकानदार,कारखाना मालिक होटल, रेस्टोरेंट मालिक जिनकी सालाना लेनदेन 1.5 करोड़ से कम हो और आयकर दाता न हो उनका पंजीकरण कराया जाना है , जिसे 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर रू03 हजार पेंशन के रूप में मिलेंगे,।
जिलाधिकारी ने उक्त योजनाओं के सफल क्रियान्यवयन हेतु उपायुक्त उद्द्योग, जिला पंचायत राज अधिकारी, डीसी मनरेगा, जिला वेशिक शिक्षा अधिकारी के सहयोग से श्रम प्रवर्तन अधिकारी को कैम्प के माध्यम से पंजीकरण कराये जाने का निर्देश दिये, साथ ही उन्होंने कहा कि सभी विकास खण्डों में कैम्प के माध्यम से जागरूक होकर इस कार्य को शत प्रतिशत पंज8करण का कार्य सुनिश्चित करें। इस कार्य मे किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाश्त नही की जाएगी। इस अवसर पर मुख्य चिकितशाधिकारी डॉ0 सुदर्शन सोनकर, श्रम प्रवर्तन अधिकारी मनीष कुमार सिंह,उपायुक्त उद्द्योग अभय कुमार सुमन, पीडी संजय पाण्डेय, जिला वेशिक शिक्षा अधिकारी विमलेश कुमार सहित अन्य सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।