ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
कुशीनगर :: आयुक्त गोरखपुर मंडल ने कहा कि अयोध्या फैसले पर आपसी सौहार्द बनना नैतिक जिम्मेदारी
November 6, 2019 • aaditya prakash srivastava • देश

सुनील कुमार तिवारी/आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी, कुशीनगर।आयुक्त गोरखपुर मंडल गोरखपुर जयंत नार्लिकर व ए0डी0जी0 जयनारायण सिंह के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में कानून व्यवस्था/मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा बाबरी मस्जिद/राम जन्म भूमि से संबंधित निर्णय आने पश्चात कही किसी स्तर पर अनहोनी की घटना घटित न हो इसके लिए उन्होने शान्ति व्यवस्था बनाये रखने हेतु सभी एहतियाती उपायो को अपनाये जाने को कहा। सभी से संवाद स्थापित रखने तथा निष्पक्ष व्यवहार रखने को कहा। सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को अपने दायित्वों को निष्ठापूर्वक निर्वहन किये जाने के निर्देश के साथ ही अनुशासन अपनाये जाने पर भी बल दिया। उन्होने जनपद में शान्ति व्यवस्था के लिये जनमानस का भी सहयोग व भागीदारी सुनिश्चित कराये जाने को कहा।
आयुक्त श्री नार्लिकर एवं ए0डी0जी0 श्री सिंह ने जनपद में गत दिवसो में सम्पन्न सकुशल शान्तिपूर्वक त्यौहार सम्पन्न कराने के लिये सभी अधिकारियों को बधाई दिये। 
श्री नार्लीकर ने कहा कि एक निष्पक्ष अधिकारी की भूमिका अदा करें ताकि आम जन का विश्वास हासिल कर सकें, अराजक तत्वों के खलाफ कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जाय चाहे वो कोई भी हो, फैसला आने से पूर्व सभी विभाग अपनी अपनी कार्ययोजना अवश्य बनालें। 
ए0डी0जी0 श्री सिंह ने कहा कि शान्ति व्यवस्था के लिये सभी संे संवाद कायम रखे। कम्यूनिटी पुलिसिंग की व्यवस्था को विकसित करें तथा अधिकारी व कर्मचारी सेवा नियमावली के विपरित कोई आचरण न करे। अपने तरफ से किसी भी प्रकार की टीका टिप्पडी से परहेज करें तथा जनपद के प्रमुख कस्बों, चौराहों पर पुलिस बल के साथ समाज के सम्भ्रान्त व्यक्तियों को चिन्हित कर कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु उन्हें जागरूक कर आगे बढ़ कर अपनी जिम्मेदारी सुनिश्चित करने हेतु प्रेरित करें। बैठक दौरान पुलिस अधीक्षक द्वारा की गई तैयारियों की जानकारी लेने पश्चात श्री सिंह ने सभी आवश्यक पहलुओं पर चर्चा करते हुए मार्गदर्शन दिए। उन्होंने 112 यू0पी0 100 , सहायता कैम्प,फायर सर्विस, जिलापूर्ति विभाग, एल0आई0ओ0, एस0आई0,आई0बी0,सहित सभी संबंधितों को उनकी जिम्मेदारियों से अवगत कराते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में जिलाधिकारी अनिल कुमार सिंह एवं पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार मिश्र ने आयुक्त एवं ए0डी0जी0 द्वारा दिये गये निर्देशो का अनुपालन कराये जाने हेतु आश्वस्त किया। 
इस अवसर पर जनपद के कोने कोने से आये धर्मगुरुओं से जनपद में शांति का माहुल बनाये रखने हेतु दवय अधिकारियों द्वारा अपेक्षा की गई, साथ ही विभिन्न धर्म गुरुओं द्वारा आश्वस्त किया गया कि सर्वोच्च न्यायालय का जो भी निर्णय होगा सहर्ष स्वीकार है ,तथा माहौल को बिगड़ने नही दिया जाएगा। अयोध्या प्रकरण पर मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा निर्णय दिये जाने के फलस्वरूप कानून एवं शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के दृष्टिगत जनपद में अमन चैन, शान्ति व्यवस्था बनाये रखना ही जिला प्रशासन का उद्देश्य है इसके लिए जिला प्रशासन बिल्कुल निष्पक्ष भाव से कार्य करेगा। राष्ट्रहित समाज हित में पूर्ण सद्भावना बनाये रखने में अपनी अहम भूमिका निभाये। सर्व समाज के संभ्रान्त लोगों की कि धर्मगुरू और संभ्रान्त लोग समाज के बहुत सम्मानित लोग होते है जो कि विषम परिस्थितियों को नियंत्रित करने और सही दिशा देने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते है। उन्होंने कहा कि मा0 सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जो भी निर्णय होगा सहर्ष स्वीकार करें, यदि कोई भी आपत्तिजनक सामग्री सोशल मीडिया वाट्सअप, फेसबुक पर डालेगा या आगे फारवर्ड करेगा तो उसके विरूद्ध आईपीसी की धारा के अन्तर्गत अभियोग पंजीकृत किया जायेगा। उसके विरूद्ध एनएसए तक की कार्रवाई भी की जा सकती है। उन्होंने कहा कि पोस्ट डालने से यह भी देख लें कि उसमें कोई ऐसी आपत्तिजनक सामग्री तो नहीं है। ग्रुप एडमिन का कत्र्तव्य होगा कि ऐसी सामग्री डालने वालो के खिलाफ तहरीर दे। उन्होंने कहा कि जनपद के सभी लोग शान्ति एवं भाईचारे के साथ रहना चाहते हैं और वह प्रशासन का हर प्रकार से सााथ देने हेतु आश्वस्त किया गया 
इस अवसर पर जिलाधिकारी डा0 अनिल कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार मिश्र, मुख्य विकास अधिकारी आनंद कुमार, अपर जिलाधिकारी विंध्यवासिनी राय, अपर पुलिस अधीक्षक गौरव वंशवाल, समस्त उप जिलाधिकारी, समस्त सी0ओ0 थानाध्यक्ष सहित अन्य विभागों के अधिकारी व समाज के संभ्रान्त नागरिक उपस्थित रहे।