ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
गोरखपुर :: विश्व का पहला मोची मेला का किया गया आगाज, इस दौरान हुई प्रतियोगिता में विजयी मोचीयों को दिया गया इनाम
November 25, 2019 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

आदित्य प्रकाश श्रीवास्तव, कुशीनगर केसरी, गोरखपुर। मोची मेला का भव्य आयोजन यूएसपीएस के द्वारा रामनगर करजहां बाजार के प्रांगण में आज सम्पन्न किया गया। विश्व पहली बार ऐसा मोची मेला का आयोजन किया गया है। इस मोची मेला की स्पान्सर वाईसीआई की चेयरपर्सन सोनिका सिंह रहीं। इस दौरान मेला के निदेशक से रामाशंकर सिंह जी ने बताया कि हफ्तों से जगह-जगह से फटे पुराने जूतों को मोची मेला में मोची प्रतियोगिता के द्वारा बनवाया व मरम्मत करवाया गया और सभी मरम्मत किए हुए जूतों को वनटांगिया और गरीब जरूरतमंद तक पहुंचाया जाएगा। मोची मेला की मुख्य अतिथि सोनिका सिंह व सचीन जी और संतोष जी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। विशिष्ट अतिथि के रूप में महिला थाना प्रभारी अर्चना सिंह ने अपना कीमती समय दिया और उन्होंने एक इस प्रोग्राम को एक बेहतरीन प्रयास बताया। मोची मेला में शामिल होकर इसकी गरिमा को बढ़ाया। आगे श्री सिंह ने बताया कि इस मेला का उद्देश्य है कि कोई भी बिना जूतों के ना रहे और मोचियों को प्रोत्साहित भी किया जा सके, जो कड़ी धूप और बारिश में, ठंड में हमारे फटे पुराने जूतों को बनाने का कार्य करते हैं। इस कार्यक्रम में वाईसीआई की चेयरपर्सन सोनिका सिंह का सराहनीय योगदान रहा। उन्होंने इसे एक बेहतरीन प्रयास बताया। इस मोची प्रतियोगिता के दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम की सुंदर प्रस्तुति भी हुई।मोची मेला की आर्गनाइजर अमृता प्रीतम सिंह ने बताया कि जिन जूतों को लोग बेकार समझकर फेंक देते हैं, जिनके जूते छोटे होने लगते हैं, उन्हीं जूतों को एकत्रित कर उन लोगों तक पहुंचाया जाएगा जिन्हें इन की सबसे ज्यादा जरूरत है जो सर्दी से बचने के लिए इन जूतों को खरीद नहीं सकते हैं। बनटांगिया के बच्चे बूढ़े पुरुष और महिलाएं जो जंगलों पर निर्भर रहते हैं व कटीले रास्तों से उन्हें गुजरना पड़ता है उनको यह जूते उपलब्ध कराए जाएंगे। कोशिश है जिस किसी भी जरूरतमंद को जूतों की आवश्यकता हो या गर्म कपड़े की वह उषा सिंह पब्लिक स्कूल से प्राप्त कर सकते हैं। इस आयोजन में कई विद्यालयों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया और फटे पुराने जूतों को हमें उपलब्ध कराकर हमारा सहयोग दिया। सभी स्कूल के प्रबंधकों को सम्मानित कर उनके योगदान के लिए धन्यवाद दिया गया। उषा सिंह पब्लिक स्कूल के सभी शिक्षकों को उनके सराहनीय कार्य के लिए सम्मानित किया गया। जिसमें प्रधानाचार्य गीता मौर्य विश्वकर्मा, शगुफा बानो, राम नैना मल, शांति विश्वकर्मा, राजकुमार, रीता मिश्रा, मनीष विश्वकर्मा, सुमन यादव, प्रमोद मौर्य के सराहनीय योगदान के लिए सम्मानित किया गया।इस मोची प्रतियोगिता मेंं कुल 8 मोचीयों ने हिस्सा लिया और सभी के बनाए गए जूतों के हिसाब से उनको मेहनताना भी दिया गया। उसके बाद सबसे ज्यादा जूते बनाने वाले विजय कुमार चौरीचौरा को प्रथम स्थान पाने पर 5000 का चेक इनाम के तौर पर दिया गया और द्वितीय स्थान पर पारसनाथ को 4000 रुपए का चेक और तृतीय स्थान पाने वाले मोची सूर्यनाथ को ₹3000 का चेक इनाम दिया गया। यह कार्यक्रम बहुत ही कुशलता से 11:00 बजे से शुरू होकर 4:00 बजे समाप्त हुआ। घर लौटते वक्त सभी शामिल हुए मोचीयों के चेहरे पर एक प्रोत्साहन भरी मुस्कान थी। वहीं यह भी घोषणा किया गया कि पूरे वर्ष जिस किसी भी गरीब जरूरतमंद को जूते चप्पल गर्म कपड़ों की जरूरत होगी वे बेझिझक रामनगर करजहां स्थित उषा सिंह पब्लिक स्कूल से संपर्क कर सकता है। इस दौरान सभी मोचीयों को आश्वासन दिया गया कि जब कभी भी उन्हें किसी भी प्रकार की सहायता की जरूरत हो तो उषा सिंह पब्लिक स्कूल के द्वारा जरूर की जाएगी।