ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: विपक्षी दलों ने जल जीवन हरियाली योजना को बताया छलावा
December 4, 2019 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

शहाबुद्दीन अहमद, कुशीनगर केसरी, बिहार, बेतिया(प.च.)। विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के विरोधी दलों ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के पश्चिम चंपारण आगमन और जल जीवन हरियाली योजना के शुभारंभ को जिला वासियों के साथ धोखा करार दिया है, माकपा के जिला मंत्री प्रभु राज नारायण राव ने कहा कि यह जिला लगातार बाढ़ और सुखाड़ के दंश एक साथ झेलता रहा है, करोड़ों रुपए की फसलें बाढ़ और सुखाड़ के प्रकोप का शिकार हुई हैं ,लेकिन जिले की किसानों को कोई राहत नहीं मिली है।

अब तक जिले में धान की तौल केंद्र नहीं खुले हैं जबकि छोटे व मध्यम वर्गीय किसान अपना धान 1200-1300सॉ प्रति क्विंटल बेचने पर मजबूर है। देर से तोल केंद्र खुलने से धनी किसानों का लाभ मिलता है। फसल की बुवाई के समय पर सरकारी दर पर बीज नहीं मिलता है, इन सबों के अलावा बहुत ऐसे कार्यक्रम है जिनका कार्यान्वयन समय पर नहीं होने के कारण किसानों, मजदूरों ,बाढ़ प्रभावित लोगों, सुखाड़ प्रभावित लोगों, फसल क्षति का नुकसान नहीं मिलने वाले लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ मात्र छलावा बनकर आ गया है, ऐसे तो देखा जाए तो बिहार सरकार के द्वारा जल जीवन हरियाली योजना के कार्यान्वयन करने में बहुत सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा, क्योंकि यह योजना धरातल पर उतरने में काफी समय लगेगा और इससे आम लोगों को कोई फायदा नहीं होगा, विशेषकर किसानों को भी इससे कोई लाभ मिलने वाला नहीं है मगर सरकार है कि अपनी योजनाओं को धरा- तल तक नहीं पहुंचाने के बदले बेकार कार्यक्रम करके लोगों को दिग्भ्रमित कर रही है और सरकारी राशि का खुल्लम खुल्ला दुरुपयोग किया जा रहा है।