ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: शिक्षा शिरोमणि अवार्ड से राष्ट्रीय स्तर पर सम्मानित हुई शिक्षिका : मेरी एडलीन
November 25, 2019 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

शहाबुद्दीन अहमद, कुुशीनगर केसरी, बेतिया पश्चिम चंपारण बिहार। स्वर्ण भारत परिवार व दिशा फाउंडेशन के संयुक्त तत्वाधान में 24 नवंबर 2019 को अखिल भारतीय बौद्धिक विमर्श एवं विलक्षण प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। यह आयोजन दिल्ली विश्वविद्यालय के उत्तरी नॉर्थ परिसर में स्थित सर शंकर लाल कॉस्ट हॉल में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ श्रीमती वंदना शुक्ला, अवनीश कुमार, शैलेंद्र कुमार जैन, देव नाथ जी, संतोष पांडे (प्रवक्ता स्वर्ण भारत ) , सीमा मिश्रा, (मथुरा ), वंदना शर्मा जी, पंकज शुक्ला, (पीयूष पंडित के शिक्षक ), पी वी खत्री, तथा सभी मुख्य अतिथि गण के कर कमलों से दीप प्रज्वलन के साथ किया गया।

दीप प्रज्वलन के बाद गणेश वंदना गौरी जी के द्वारा की गई। गणेश वंदना के बाद तमाम मुख्य अतिथियों के द्वारा कार्यक्रम के विषय पर अपने विचार दिए गए। सुश्री मेरी एडलीन ने बताया कि नेक्स्ट जेन अवार्ड 2019 के सम्मान समारोह में शिक्षा, साहित्य और सामाजिक कार्यकर्ता की कैटिगरी में देश से विभिन्न राज्यों से चयनित अवार्डी को सम्मानित किया गया। बिहार राज्य से तीन महिला शिक्षिकाओं का चयन किया था। जिसमे पश्चिम चंपारण जिला से शिक्षा शिरोमणि अवार्ड के लिए राजकीय+2 उच्च विद्यालय कुमारबाग की शिक्षिका सुश्री मेरी एडलीन को शिक्षा शिरोमणि अवार्ड और राज्य संपोषित विद्यालय बेतिया की शिक्षिका शमीम आरा को शिक्षा मार्त्तण्ड अवार्ड के लिए चयनित किया गया था। मुख्य अतिथि रक्षा विशेषज्ञ मेजर पी०के० सहगल, राजनीतिक विश्लेषक शांतनु गुप्ता, डायरेक्टर हिंदी नोट अवनीश कुमार, दिल्ली के डीसीपी जितेंद्र मणि त्रिपाठी, अमर भारती के डायरेक्टर शैलेंद्र जैन, सीनियर सर्जन डॉ विकास मिश्रा ने संयुक्त रूप से मेरी एडलीन को शिक्षा शिरोमणि अवार्ड का मोमेंटो और प्रशस्ति पत्र प्रदान कर किये। अवार्ड पाकर सुश्री एडलीन ने कहा कि मैं नेक्स्ट जेन अवार्ड के आयोजक स्वर्ण भारत परिवार के राष्ट्रीय अध्यक्ष पीयूष पंडित जी के प्रति आभार प्रकट करती हूँ, जिन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर अलग- अलग राज्यों से विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर कार्य करने वाले विलक्षण प्रतिभाओं को सम्मान प्रदान किया है। मेरा यह सम्मान, अवार्ड मेरे परिवार के लोगों, जिलेवासियों और शुभचिंतकों को समर्पित है।