ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: सामाजिक सहभागिता से 14 गरीब युवतियों का सामुहिक विवाह के कार्यक्रम का हुआ आयोजन :: गरिमा
February 26, 2020 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

शहाबुद्दीन अहमद, बेतिया(प.चं.), बिहार। नप सभापति गरिमा सिकारिया ने कहा कि अनेक बुराइयों में दहेज की प्रथा एक सामाजिक कलंक है। मां कालीधाम विवाह सेवा समिति के द्वारा दशकों से दहेजमुक्त सामुहिक विवाह का यह कीर्तिमान जिले के अन्य क्षेत्रों व लोगों के लिये उदाहरण बन गया है। वे मंगलवार की रात नगर के कालीबाग़ मंदिर परिसर में सामाजिक सहयोग से आयोजित सामुहिक विवाह समारोह के मौके पर अपना विचार दे रहीं थीं। उन्होंने कहा कि इस साल भी सामाजिक सहभागिता से 14 गरीब युवतियों का सामुहिक विवाह सम्पन्न करना सच्ची समाजसेवा का एक उत्तम उदाहरण है। एक कन्या को समिति द्वारा निर्धारित उपहार सामग्री मुहैया कराने का सौभाग्य मुझे भी मिला है। इसके लिये मैं खुद को बहुत सौभाग्यशाली मान रहीं हूं।मां कालीधाम विवाह सेवा समिति द्वारा आयोजित सामुहिक विवाह समारोह में अपना बहुमूल्य समय देने के लिये उन्होंने पश्चिम चंपारण के माननीय सांसद डॉ संजय जायसवाल के प्रति भी आभार जताया,साथ ही साथ इस विवाह समारोह के आयोजन करने वाले, विवाह में राशि खर्च करने वालों एवं आम लोगों को भी जो इस विवाह कार्यक्रम में सम्मिलित थे, सबों के सहयोग के लिए धन्यवाद दिया, और कहा कि यह रीति रिवाज आगे आने वाले दिनों में भी जारी रहेगा ताके गरीब एवं लाचार लड़कियों का आर्थिक सहायता देकर उनके जीवन दान ,कन्यादान करने की प्राथमिकता के आधार पर कार्य चलता रहेगा।