ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: पश्चिम चंपारण जिले में विधि-व्यवस्था बनाये रखने हेतु हाई अलर्ट
December 20, 2019 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी, बिहार, बेतिया(प.चं.)। शरारती तथा असामाजिक तत्वों के विरूद्ध की जायेगी निरोधात्मक कार्रवाई। सोशल मीडिया पर भी रखी जा रही है पैनी नजर। एन. आर. सी. एवं सी. ए. बी. के विरोध में कई संगठनों द्वारा जुलूस, धरना, प्रदर्शन आदि देश के विभिन्न भागों में किया जा रहा है। इन जुलूस, प्रदर्शन की आड़ में असामाजिक तत्वों द्वारा तोड़फोड़ कर सरकारी संपत्ति एवं गैरसरकारी संपत्तियों को नुकसान भी पहुंचाया जा रहा है। जिले में भी कई संगठनों द्वारा जुलूस आदि निकालने की सूचना है। इस अवसर पर शरारती तत्वों एवं असामाजिक तत्वों द्वारा संवेदनशील क्षेत्रों में विधि-व्यवस्था को प्रभावित किया जा सकता है। इसलिए शरारती तत्वों एवं असामाजिक तत्वों से निबटने हेतु जिला प्रशासन द्वारा पुख्ता इंतजाम किये गये हैं। सभी पदाधिकारी/पुलिस पदाधिकारियों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। संवेदनशील संस्थानों, महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों, स्कूलों, कॉलेजों की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गयी है।

जिलाधिकारी ने बताया कि भारत-नेपाल सीमान्तर्गत निगरानी बढ़ा दी गयी है तथा चेकपोस्ट बनाकर आने-जाने वालों की गहन जांच की जा रही है। इसके साथ ही माॅल, रेलवे स्टेशन, बड़ी दुकानों, बस स्टैंड, टैक्सी स्टैंड, आॅटो स्टैंड, अस्पतालों, मंदिर, पार्क आदि भीड़भाड़ वाले इलाकों में गहन निगरानी की जा रही है। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को साइबर कैफे की भी गहन जांच करने का निदेश दिया है। सोशल मीडिया पर पैनी नजर बनाकर हर एक पोस्ट की गहन छानबीन की जा रही है। आम लोगों से अपील की गयी है कि सोशल मीडिया पर किसी धर्म/सम्प्रदाय की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले पोस्ट नहीं करें। सोशल मीडिया फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर, इंस्टाग्राम आदि पर भड़काऊ भाषण, फोटो, वीडियो पोस्ट करने वालों के विरुद्ध विधिसम्मत सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही किसी भी प्रकार का पोस्टर, पर्चा, आलेख, फोटो आदि अथवा किसी व्यक्ति विशेष के विरूद्ध अपमानजनक पर्चा, आलेख, फोटो के प्रकाशन पर भी सख्त कार्रवाई करने हेतु अधिकारियों को निदेशित किया गया है। जिलाधिकारी द्वारा सभी पुलिस अधीक्षक, सभी एसडीएम, सभी एसडीपीओ, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, सभी सीओ, सभी थाना प्रभारियों सहित अन्य पदाधिकारियों को हर समय चौकन्ना रहकर निगरानी करने एवं असामाजिक तत्वों, शरारती तत्वों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने हेतु निदेशित किया गया है।