ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: पंचायतों में जाकर लोगों को जागरूक एवं प्रेरित करेगा प्रचार रथ, जिला पदाधिकारी ने हरी झंडी दिखाकर किया रवाना
December 26, 2019 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

शहाबुद्दीन अहमद, कुशीनगर केसरी, बेतिया(प.चं.), बिहार। जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, दहेज एवं बाल विवाह उन्मूलन संबंधी अभियान एवं दिनांक- 19 जनवरी 2020 को आयोजित होने वाले राज्य व्यापी मानव श्रृंखला निर्माण में अधिक से अधिक लोगों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जा रहा है। सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग, बिहार द्वारा प्रचार रथ के माध्यम से भी लोगों को जागरूक एवं प्रेरित किया जा रहा है। पटना में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री, बिहार, नीतीश कुमार द्वारा दिनांक- 25 दिसम्बर 2019 को पूरे राज्य में उक्त अभियानों/कार्यक्रमों का प्रचार-प्रसार करने हेतु प्रचार रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया है। इसी परिपेक्ष्य में आज दिनांक- 26 दिसम्बर 2019 को समाहरणालय परिसर से प्रभारी जिला पदाधिकारी-सह-अपर समाहर्ता नंदकिशोर साह द्वारा हरी झंडी दिखाकर प्रचार रथ को रवाना किया गया। इस अवसर पर एसडीएम, बेतिया सदर, विद्यानाथ पासवान, जिला प्रोग्राम पदाधिकारी, जनशिक्षा, संजीव कुमार, एसआरजी, मेरी एडलीन, प्रभाष कुमार आदि उपस्थित रहे।
इस अवसर पर प्रभारी जिला पदाधिकारी-सह-अपर समाहर्ता, नंदकिशोर साह ने कहा कि जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, दहेज एवं बाल विवाह उन्मूलन राज्य सरकार के महत्वाकांक्षी अभियान हैै। जनजीवन से जुड़े सरकार के इस अभियान में जनभागीदारी सुनिश्चित करने हेतु प्रचार रथ को आज रवाना किया जा रहा है। जीपीएस, कैमरा, इन्टरनेट, दिन व रात दोनों में दिखाई देने लायक एलईडी स्क्रीन सहित अन्य आधुनिक संसाधनों से लैस इस प्रचार रथ के साथ कला जत्था की एक टीम को भी संलग्न किया गया है ताकि इसको प्रभावी बनाया जा सके। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के प्रदर्शन हेतु ऐसे जगह पर कार्यक्रम किया जाय जहां लोग सामान्यतया बड़ी संख्या में एकत्रित होते हों। उन्होंने कहा कि जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी प्रचार रथ की गतिविधियों का लगातार अनुश्रवण करते रहेंगे तथा विभागीय गाइडलाइन के अनुसार प्रचार रथ के माध्यम से प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चि करेंगे।
विदित हो कि प्रचार रथ द्वारा होने वाले कार्यक्रम की अवधि दो से ढाई घंटे की होगी। जिसमें शुरूआत में जल-जीवन-हरियाली से संबंधित वृत चित्र प्रदर्शित किया जायेगा। इसके बाद बाल विवाह एवं दहेज प्रथा उन्मूलन तथा अंत में नशामुक्ति से संबंधित वृतचित्र दिखाया जायेगा। कार्यक्रम के बीच में हर 15-20 मिनट के अंतराल पर कलाकारों के दल के द्वारा आकर्षक एवं रोचक कार्यक्रम प्रस्तुत किये जायेंगे। जिसकी विषयवस्तु जल-जीवन-हरियाली, दहेज प्रथा एवं बाल विवाह उन्मूलन तथा मद्य निषेध है।