ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: नगर भवन बेतिया में राजनीतिक दल राजसपा के गठन की हुई घोषणा
November 6, 2019 • aaditya prakash srivastava • राजनीति
शहाबुद्दीन अहमद, कुशीनगर केसरी, बेतिया पश्चिम चंपारण, बिहर। शहर के नगर भवन में एक महती जनसभा में विशाल जन संघर्ष सभा में राजनीतिक दल, राजसपा के गठन की घोषणा की गई। इस अवसर पर जनता के सवालों को लेकर राज्यव्यापी अभियान चलाएंगे गुलरेज होदा और पूर्णमासी राम के बयानों से उपस्थित महती जनसभा में लोगों ने एक आवाज होकर इस नई पार्टी के गठन को पूर्ण रूप से समर्थन दिया तथा चंपारण क्षेत्र में सरकार और राजनीतिक दलों की ओर से उपेक्षा का शिकार रहा है, इस ऐतिहासिक इलाके का अपेक्षित विकास नहीं हो पाया है।
जनसभा के सामने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया गया, दीप प्रज्वलित करने वालों में डॉ गुलरेज होदा, पूर्व मंत्री और सांसद पूर्णमासी राम ,अब्दुल मजीद , अध्यक्ष जिला अवकाएफ कमेटी,फखरुल आलम सचिव गुलाब मेमोरियल कॉलेज, बेतिया, प्रोफेसर रूहुल अमीन खान, प्रोफ़ेसर नूर आलम, इरशाद अख्तर दुलारे, डॉ नसीम आलम डॉक्टर जावेद कमर, डॉ आर आजम इत्यादि सभी गणमान्य व्यक्ति ने मिलकर दीप प्रज्वलित किया।चंपारण की धरती की समृद्ध विरासत आज इस क्षेत्र के लोगों के पिछड़ेपन का कारण धूमिल होती जा रही है ,अब तक सरकार और बड़े राजनीतिक दलों ने चंपारण के ऐतिहासिक महत्व के नाम पर केवल अपनी अपनी राजनीतिक रोटियां सेकने का काम किया है। सामाजिक सरोकारों और जनता के सवालों को दरकिनार करते हुए केवल जनता की भावनाओं से खिलवाड़ कर रहे हैं क्षेत्र के लोगों को मूल समस्याओं से ध्यान भटका कर और जुलम की वातावरण बनाकर बड़े राजनीतिक दलों के नेता अपनी राजनीतिक महत्वाकांक्षा को आसानी से पूरा कर रहे हैं। इसी सब बिंदुओं को लेकर आम सभा में, दलितों, जनजातियों, दलितों ,जनजातियों, पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यकों और सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर आबादी की आज भी सामाजिक आर्थिक और शैक्षणिक विकास की राह देख रही है। किसान देश की आजादी से पहले अंग्रेजी हुकूमत का अत्याचार सहने को मजबूर हुए हैं और आज अपनी सरकार अपने जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा का दंश झेलने के मजबूर है। जिससे लोगों की भावनाएं आहत हो रही है ,जिसका निराकरण समय की मांग है। इस विशाल जन संघर्ष सभा में राजनीतिक दल का गठन करके एक नई पार्टी राजसपा के गठन पर महती जनसभा ने पुरजोर रूप से समर्थन देते हुए इसके अध्यक्ष गुलरेज होदा तथा सचिव पूर्णमासी राम के मनोनयन पर खुशी का इजहार किया। इस अवसर पर उपस्थित डॉक्टर नसीम आलम , सैयदअब्दुल मजीद , अध्यक्ष जिला अवकाश कमेटी अध्यक्ष जिला अवकाएफ कमिटी, प्रोफेसर नूर आलम, डॉक्टर आर आजम, डॉक्टर जावेद कमर हाफिज सईद, मामून खान ,मुनीर अहमद, नरकटियागंज, हाफिज सईद, राजेश्वर सिंह, मनोवर आलम अधिवक्ता , पटना उच्च न्यायालय, हीरालाल ठाकुर, अमीरुल आलम ,अब्दुल हफीज, इजहार आलम ,सगीर आलम, सरफुद्दीन, बैरिया प्रखंड, प्रोफ़ेसर रुहुल अमीन खान, जाकिर बलीग, इरशाद अक्सर दुलारे इरशाद अहमद के अलावा शहर के मशहूर शिक्षाविदों ,समाजसेवी, किसान मजदूर, बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी उपस्थित। इस दौरान व्यक्तियों को अंगवस्त्रम ,फूल माला देकर सम्मानित किया गया, सम्मानित होने वाले सदस्यों ने इस नई पार्टी के प्रति अपना पूरा समर्थन देने तथा इससे जुड़ने का संकल्प लिया।इस अवसर पर पुरनवासी राम,गुलरेज होदा ने अपने भाषण में अल्पसंख्यक, दलित, महादलित ,पिछड़ा वर्ग ,अति पिछड़ा वर्ग के समस्याओं पर अपने अपने विचार रखे तथा अपनी पार्टी राजसपास से जुड़ने एवं कार्यकर्ता बनने की अपील की ताकि इस नई पार्टी को देश और प्रदेश स्तर तक पहुंचाया जा सके और कार्यकर्ताओं के सारी समस्याओं का निदान करने हेतु कोशिश की जा सके। नगर भवन में उपस्थित महती जनसभा में महिलाओं की उपस्थिति भी अधिक थी तथा महिलाओं ने भी इस पार्टी को अपना योगदान देने के लिए तत्परता दिखाई तथा संकल्प लिया के इस पार्टी को आगे बढ़ाने में हम सभी महिलाएं अग्रसर रहेगी।