ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: केंद्र प्रायोजित योजना आयुष्मान भारत के माध्यम से लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड बनेगा : सिविल सर्जन
January 20, 2020 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

शहाबुद्दीन अहमद, बेतिया(प.चं.), बिहार। केंद्र सरकार के द्वारा चलाए जा रहे प्रायोजित योजना आयुष्मान भारत ,स्वास्थ्य विभाग की योजना में मानी जा रही है ,इसको लेकर विभाग सख्त है। कार्ड बनाने की धीमी प्रक्रिया को देखते हुए विभाग ने सभी सिविल सर्जनों को निर्देश देते हुए प्रखंडवार कैंप लगाकर कार्ड बनाने का निर्देश जारी किया है। इस योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्ड बनाने का कार्य अब जोर पकड़ने लगा है। कार्ड बनाने की जिम्मेवारी कार्यपालक सहायक एवं स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत डाटा ऑपरेटर के जिम्मे है, इसके साथ आशा कार्यकर्ताओं , संबंधित विभाग के अधिकारियों को भी लगाया गया है ,इसकी पर्यवेक्षण सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी के माध्यम से होता रहेगा।

प्रखंड वार तिथि सिविल सर्जन बेतिया के माध्यम से घोषित कर दी गई है, इसके अंतर्गत, लोरिया एवं जोगापट्टी 24 से 31 जनवरी तक, बगहा 1 एवं बगहा दो -3 से 10 फरवरी तक ,भितहा, मधुबनी, पिपरासी ,रामनगर, ठाकरा 13 से 19 फरवरी तक, गौनाह एवं नरकटिया गंज 24 फरवरी से 2 मार्च तक, सिक टा एवं मैनाटांड़ 4 से 7 मार्च एवं 12 से 14 मार्च तक सभी प्रखंडों में गोल्डन कार्ड बनने की सूचना प्राप्त हुई है।
गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए लोगों को अपना राशन कार्ड एवं आधार कार्ड के साथ स्थल पर पहुंचना पड़ेगा ,यह निशुल्क बनेगा। भारत सरकार की इस आयुष्मान भारत योजना से चयनित लोगों को ₹5 लाख तक का निशुल्क इलाज का लाभ दिया जाना है ,लाभ के लिए चयनित लोगों को गोल्डन कार्ड बनाना जरूरी है, इस कार्ड के माध्यम से विभिन्न अस्पतालों में इलाज की सुविधा प्राप्त होगी। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत गोल्डन कार्ड बनाने की प्रक्रिया अपने लक्ष्य से बहुत पीछे है ,इसीलिए सरकार ने यह घोषणा की है कि प्रत्येक पंचायत में विभाग द्वारा शिविर लगाकर लोगों का गोल्डन कार्ड बनाने की प्रक्रिया चलेगी।