ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: दो दंपतियों की बेतिया में भरी गोद, बच्चे को पाकर निहाल हुए दंपति, विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान की व्यवस्था से खुश दिखे दंपति
January 11, 2020 • aaditya prakash srivastava • सामान्य

शहाबुद्दीन अहमद, बेतिया(प.चं.), बिहार। दो दंपतियों की गोद आज बेतिया में भर गयी है। बच्चे को पाकर दंपतियों की आंखें खुशी से भर गयी। आज विदेशी दंपति जोस मिगुएल जल्दीबार और उनकी पत्नी मैरिया जेसस पिनिला जाॅर्डन एक साथ दो सगे बच्चों के माता-पिता बन गये। बच्चे को पाकर विदेशी दंपति ने कहा कि उन्हें संसार की सारी खुशी मिल गयी है। ये बच्चे इतने प्यारे हैं कि इनको एक पल के लिए अपने से दूर नहीं करेंगे।
उन्होंने कहा कि पहले से उन्हें कोई बच्चा नहीं है। पश्चिम चम्पारण की पावन धरती पर उनकी गोद भर गयी है। यहां आने पर उनको अपार खुशी मिली है। इनका लालन-पालन बेहतर तरीके से कर इन्हें काबिल इंसान बनायेंगे।
अपने बच्चों को लेने आये स्पेन के दंपति पिछले एक सप्ताह से बेतिया में हैं। विदेशी दंपति ने बताया कि उनका पूरा दिन उनके बच्चों के साथ में ही बिता है। ये बच्चे उनसे भी ज्यादा सुंदर है। उन्होंने कहा कि विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान की कर्मियों की ओर से बच्चों की बहुत ही अच्छे तरीके से देखभाल की जा रही है। विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान, बेतिया के कर्मी बच्चों को अपनी संतान की तरह देखभाल करते हैं, जो काफी सराहनीय है।
वहीं मध्य प्रदेश के मैहर से आये दंपति उदय चन्द्र प्रभाकर तथा उनकी पत्नी इंदू सिंह भी बच्चे को पाकर खुशी से फूले नहीं समा रहे थे। उन्होंने कहा कि बच्चे को लेकर हमलोगों ने कहां-कहां नहीं भटका लेकिन इस जिले में आकर उनकी मुराद पुरी हो गयी है। वे नन्ही सी गुड़िया को अपने कलेजे से लगाये बेहद भावुक हो गयीं।
आज अपर समाहर्ता कार्यालय प्रकोष्ठ में विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान, बेतिया की ओर से एक कार्यक्रम में अपर समाहर्ता, श्री नंदकिशोर साह ने विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान के कुल 03 बच्चों को उनके माता-पिता को सौंपकर इस प्रक्रिया को पूरी की। सहायक निदेशक, बाल संरक्षण, श्रीमती ममता झा ने बताया कि विदेशी दंपति के गोद लेने की प्रक्रिया परिवार न्यायालय से पूरी कर ली गयी है। उन्होंने बताया कि दत्तक ग्रहण संस्थान, बेतिया के अन्य बच्चों को शीघ्र ही दंपतियों द्वारा ग्रहण किया जायेगा।