ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: देहदान व अंगदान पर स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन कर लोगों को किया जागरूक
October 13, 2019 • aaditya prakash srivastava

शहाबुद्दीन अहमद, कुशीनगर केसरी,  बेतिया प.चं. बिहार। देहदान व अंगदान पर स्लोगन प्रतियोगिता के आयोजन में मारवाड़ी महिला समूह के द्वारा इस सम्मेलन में समूह के अध्यक्ष रानी झुनझुनवाला ने बताया कि इस प्रतियोगिता के आयोजन करने में प्रतिभागी के रूप में सिमरन सर्राफ, पूजा गोयंका, किरण कनोडिया, मंजू उदयपुरिया ,रंजना गोयल ,संगीता तो दी ,स्वाति झुनझुनवाला, रश्मि बंका ,रजनी कजारिया, सीमा सिंघानिया, आसा काया, मीणा तोड़ी, रमा मोटअनी ने भाग लिया। इन प्रतियोगिताओं में भाग लेने वाले ने अपनी स्लोगन के माध्यम से स्लोगन के रूप में करने से अंगदान बसती है। किसकी जान जीवन की डूबती नैया अंगदान है इसका खेवरिया नस्ल है शरीर हमारा मिट्टी में मिल जाएगा, मरने उपरांत करके अंगदान इंसान इंसान के काम आएगा जीवन के बाद भी आ सके हम किसी के काम आओ मिलकर चले अंगदान से जोड़े अपना नाम जैसे स्लोगन से आधी आबादी ने समाज को अंगदान व देह दान के प्रति जागरूक करने का कार्य किया।

इस अवसर पर अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन के तत्वधान में आयोजित अंगदान व देहदान विषय पर आयोजित स्लोगन प्रतियोगिता का महिला सम्मेलन के अध्यक्ष रानी झुनझुनवाला ने सभी को धन्यवाद दिया। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतिभागियों के बीच निर्णायक रेनू शर्मा व कमल अरोड़ा के निर्णय के आधार पर रश्मि बंका को प्रथम, स्वाति झुनझुनवाला को द्वितीय तथा सीमा सिंघानिया और रंजना गोयल को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ। मौके पर वीणा चौधरी सहित अन्य महिला सम्मेलन की महिलाएं उपस्थित रहीं।