ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ की बैठक में शिक्षकों की मांगों के समर्थन में आंदोलन के निर्णय पर किया गया चर्चा
November 17, 2019 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

शहाबुद्दीन अहमद, कुशीनगर केसरी, बेतिया(प.चं.) बिहार। बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघर्ष समिति ने अपनी एक आवश्यक बैठक में शिक्षकों के मांगों के समर्थन में आंदोलन करने के संबंध में एक आवश्यक बैठक का आयोजन किया, इसमें जिला के सभी प्रखंडों से शिक्षक संघ के अंचल मंत्री, अध्यक्ष, सचिव की उपस्थिति हुई, इस सभा में संघ के सदस्यों ने शिक्षकों से इस बात की जानकारी दी कि सरकार से बार-बार आग्रह करने के बावजूद शिक्षा के विकास हेतु शिक्षकों की मांगों पर सरकार अत्यंत निराशाजनक है। ऐसी स्थिति में शिक्षक संघ ने कई निर्णय लिया है ,जिसके संदर्भ में नए नियोजित शिक्षकों का पुराने शिक्षकों की भर्ती वेतनमान दिया जाए ।नियोजित शिक्षकों को नियमित शिक्षकों के बराबर का लाभ दिया जाए ।पुरानी पेंशन योजना का लाभ सभी शिक्षकों को दिया जाए ।वेतन निर्धारण की विसंगति को दूर किया जाए।
पूर्व की भांति मृत शिक्षकों के आश्रितों को नियम में शिथिलता करते हुए अनुकंपा का लाभ दिया जाए ।सभी कोटि के नियोजित शिक्षकों को ग्रुप बीमा एवं सामान्य भविष्य निधि योजना का लाभ दिया जाए। नगर -निगम क्षेत्र में कार्यकर रहे सभी नियोजित शिक्षकों को नियमित शिक्षकों की तरह सभी भत्ता का लाभ दिया जाए।
शिक्षक संघ के नेताओं ने कहा कि यदि सरकार शिक्षकों की उपर्युक्त मांगों के पूर्ति नहीं करती है। संपूर्ण राज्य के प्राथमिक से लेकर उच्चतर माध्यमिक तक के शिक्षक दिनांक 25 -11--19 को विधानमंडल सत्र के दौरान विधानसभा और विधान परिषद के सभी सदस्यों के आवास के सामने उनके क्षेत्र के शिक्षक धरना कार्यक्रम देंगे। इसके अलावा बिहार के राज्य संघ के सभी पद धारक सभी, जिले के अध्यक्ष, प्रधान सचिव, राज्य कार्यसमिति के सदस्य गण, सत्र 2017- 19 के चुनाव प्रक्रिया के निर्धारण करने के लिए कुछ निर्णय लिए गए, जिसमें 31 जनवरी 2020 तक सदस्यता अभियान समाप्त कर अंचलों का चुनाव संपर्क करा लिया जाए। सदस्यता अभियान में अधिक से अधिक सदस्यों को सदस्य बनाया जाए क्योंकि संख्या बल संगठन की मजबूती के लिए आवश्यक है। राज्य कार्य समिति के निर्णय के आलोक में जिला में शिक्षकों को सदस्य बनाने की मांग पर राज्य सदस्य बनाया जाएगा।
अंचलों के चुनाव की तिथि और स्थान ,चुनाव पदाधिकारी के नाम, पर्यवेक्षक के साथ पूर्व की भांति चुनाव आयोग को भेजा जाएगा, साथ ही अंचलों के चुनाव परिणाम का प्रतिवेदन चुनाव पदाधिकारी द्वारा एक प्रति राज्य कार्यालय के पते पर चुनाव आयोग के नाम भेजा जाएगा। प्रधान सचिव, अध्यक्ष के अतिरिक्त राज्य का समिति के सदस्य एवं जिले के राज संघ के पदाधिकारियों की एक कमेटी राज्य अध्यक्ष कमेटी के 5 सदस्य बना सकते हैं ।अंचलों में सदस्यता अभियान एवं समय सीमा के अंदर चुनाव संपन्न करना कमेटी की पूरी जवाबदेही होगी। जिस जिला में पूर्व के सत्र में चुनाव नहीं हुआ है वहां तदर्थ समिति गठन करने हेतु अध्यक्ष बिहार राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ को अधिकृत किया गया।