ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष द्वारा नागरिकता संशोधन बिल को ले कर किया गया प्रेस वार्ता
December 21, 2019 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

शहाबुद्दीन अहमद, कुशीनगर केसरी, बेतिया, बिहार। बेतिया पश्चिमी चंपारण के सांसद सह भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल के आवास पर 20 दिसंबर 2019 को प्रेस वार्ता करते हुए नागरिकता संशोधन बिल की बात कही गई। इस संदर्भ में सांसद संजय जायसवाल द्वारा कहा गया कि देश में जो यह घटना हो रहीं हैं या चल रही है उस समय उसकी उद्योग उभासना मै करता हूँ जो विरोधी दल जिस तरह से अफवाह फैलाकर राजनीति कर रही है।

सीएए और एनआरसी को लेकर के जो झूठा राजनीति मिथ्या प्रचार किया जा रहा है, उसकी जितनी निंदा की जाए वह उतनी ही कम है। यह कानून है कि जो 2014 से तीन देशों से जो लोग भाग कर आए हैं, धार्मिक भावनाओं के कारण प्रताड़ना का शिकार होकर वह अपने घर एवं जमीन जायदाद को छोड़कर आए हैं तो यह हमारी ऐतिहासिक जिम्मेदारी है कि हम उन्हें शरण दे। वह भी 2014 तक, उनको नागरिकता में कुछ छूट दी जा रही है, और उस कानून को लेकर के इस बात को प्रचारित करना कि यहां हर किसी को अपने नागरिक होने का सर्टिफिकेट देना पड़ेगा, दरअसल विपक्ष दल के कूटनीतिक मानसिकता को दर्शाता है, भारत के अल्पसंख्यक समुदाय को गुमराह किया जा रहा है। 2019 के चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जिस तरह से पराजय विरोधी दलों को मिली है और उसके बाद लगातार जो भी पुराने काम हैं, चाहे वह धारा 370 की हो, चाहे उनके इस विभिन्न योजनाओं की हो, मोदी जी की विकास रफ्तार की हो, उन सभी को कुंज करने का राष्ट्र विरोधी दल द्वारा प्रयास कार्य किया जा रहा है। आज सेंसेक्स अपनी ऊंची प्रकाष्टा पर है जो यह बताता है कि आर्थिक स्तर पर भारत बहुत ही मजबूत है। लेकिन आर्थिक विकास को सुदृढ़ करने के लिए यह सारा प्रयास विरोधी दल द्वारा किया जा रहा है और दुख की बात है कि कुछ ऐसे तत्व शामिल हो गए हैं जो अल्पसंख्यक समुदाय को बरगला रहे हैं। जो हिंदू, मुसलमान, सिख, इसाई सभी का एक बराबर अधिकार है और यह 1947 के नेहरू लियाकत समझौता की असफलता के कारण और उत्पीड़न के कारण जो हमारे बीच बनी है। 1947 के पूर्व के भारत के सीमाओं से भाग कर आए हैं केवल उन लोगों के शरण देने का है। वह भी 2014 से पहले आए हैं उनके लिए हैं। वहीं कांग्रेसी राज्य में गीतकार अदनान सामी को 2007 से नागरिकता नहीं मिली, जिसे नागरिकता देने का काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया है। 600 से ज्यादा पाकिस्तान से भागकर भारत में आए मुसलमान भाइयों को भी नागरिकता देने का काम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। इन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए प्रदेश अध्यक्ष द्वारा यह कहा गया कि यह सब झूठी अफवाह एवं मतभेद एवं धर्म की राजनीति को लेकर विरोधी दल द्वारा यह सारे प्रयास किए जा रहे हैं, जो गलत है, इनकी यह प्रयास सफल नहीं होगी। वहीं इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सहित काफी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता के सदस्यों में जिला अध्यक्ष दीपेंद्र सराफ, मुकेश सहाय, रवि सिंह, रिंकी गुप्ता उर्फ कुमार गौरव, आनंद सिंह, कन्हैया गुप्ता, आदि मौजूद हुए।