ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: अमेरिका के पेटेंट कानून का विरोध समाजवादी नेता जॉर्ज फर्नांडिस के पुण्यतिथि पर कार्यक्रम का हुआ आयोजन
January 30, 2020 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

शहाबुद्दीन अहमद, बेतिया(प.चं.), बिहार। जब बेतिया पश्चिम चंपारण के बासमती चावल के लिए किसानों के मसीहा स्वर्गीय जार्ज फर्नांडिस ने किया था अमेरिका के पेटेंट कानून का विरोध !आज दिनांक 29 जनवरी 2020 को महान समाजवादी नेता गरीबों के मसीहा जॉर्ज फर्नांडिस की प्रथम पुण्यतिथि पर सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन के सभागार सत्याग्रह भवन में सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया !जिसमें सभी धर्मों के लोगों ने भाग लिया! इस अवसर पर विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों, बुद्धिजीवियों, समाजवादी चिंतको एवं छात्र छात्राओं ने भाग लिया।

इस दौरान पश्चिम चंपारण कला मंच की संयोजक शाहीन परवीन ने भारत सरकार के पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनके जीवन दर्शन पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला! इस अवसर पर स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर सह सचिव सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन डॉ0 एजाज अहमद ने कहा कि किसानों के मसीहा सह पूर्व रक्षा मंत्री भारत सरकार स्वर्गीय जॉर्ज फर्नांडिस का सारा जीवन राष्ट्र के लिए समर्पित रहा !1950 के दशक में राम मनोहर लोहिया के विचारों से प्रभावित होकर समाजवादी आंदोलन से जुड़े! 1974 आपातकाल के समय उन्होंने जयप्रकाश नारायण के आंदोलन को दिशा प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई !इस अवसर पर श्री एजाज अहमद ने कहा कि 90 के मध्य के दशक में जब विश्व की सारी पूंजीवादी शक्तियां संगठित हो रही थी! बेतिया पश्चिमी चंपारण की चावल बासमती की महक एवं स्वाद ने पूंजीवादी शक्तियों की निगाह की किरकिरी बनी !इसी बीच जॉर्ज फर्नांडिस ने तत्कालीन बेतिया पश्चिम चंपारण के सांसद मदन प्रसाद जयसवाल एवं बगहा बाल्मीकि नगर के सांसद महेंद्र प्रसाद बैठा साथ मिलकर बेतिया पश्चिम चंपारण के बासमती चावल को अमेरिका द्वारा पेटेंट कराने का घोर विरोध किया! जॉर्ज फर्नांडिस के नेतृत्व में बेतिया पश्चिम चंपारण की आवाज डंकन प्रस्ताव के विरोध में संसद तक पहुंची ! सांसद से अमेरिका एवं पूरे विश्व में बेतिया पश्चिम चंपारण के बासमती के पेटेंट का विरोध होना आरंभ हुआ ! आखिरकार अमरीका को पीछे हटना पड़ा !इस प्रकार बेतिया पश्चिम चंपारण के बासमती के लिए एवं चंपारण के किसानों के लिए स्वर्गीय जॉर्ज फर्नांडिस भूमिका काफी महत्वपूर्ण रही! बिहार के क्षेत्र बाल्मीकि नगर में स्थित थारू जनजातियों के लिए आरक्षण प्रदान कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई! जॉर्ज फर्नांडिस के प्रयासों से ही उत्तर प्रदेश एवं बिहार को जोड़ने वाली रेल मार्ग के लिए छितौनी पुल का निर्माण को दिशा प्रदान की गई! इस अवसर पर बिहार विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग शाहनवाज अली ने कहा कि बेतिया पश्चिम चंपारण से जॉर्ज फर्नांडिस का गहरा लगाव था! जब कभी भी सांसद एवं दिल्ली से फुर्सत मिलती !बिहार जब भी आते हैं बाल्मीकि नगर के सांसद महेंद्र प्रसाद बैठा से मिलकर ही बिहार के किस जिले में जाते! अपने कार्यक्रम का आगाज भी पश्चिम चंपारण से ही करते हैं इस परंपरा को माननीय मुख्यमंत्री बिहार सरकार नीतीश कुमार ने जीवंत रखा है! अंतिम बार स्वर्गीय जॉर्ज फर्नांडिस 2009 में बेतिया पश्चिमी चंपारण का दौरा किया था! इस ऐतिहासिक अवसर पर उनके साथ चंद्रेश कुमार, मिथलेश सिंह , देवेंद्र यादव साथ आए थे! सत्याग्रह सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन, मानवाधिकार संरक्षण प्रतिष्ठान एवं विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने उनसे मुलाकात की थी ! जार्ज फर्नांडिस ने कहा था कि ₹20 से अधिक मीटर का वस्त्र आदमी को नहीं पहनना चाहिए! इस अवसर पर सरकार से मांग करते हुए वक्ताओं ने कहा कि स्वर्गीय जॉर्ज फर्नांडिस के सम्मान में बेतिया पश्चिम चंपारण में जार्ज फर्नांडिस राष्ट्रीय स्मारक का निर्माण कराया जाए साथ ही साथ जार्ज फर्नांडिस के सम्मान में एक विश्वविद्यालय एवं संग्रहालय का निर्माण कराया जाए ताकि नई पीढ़ी अपने गौरवशाली इतिहास को जान सके!