ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बेतिया(प.चं.) :: 390 वी जन्मदिवस पर शिद्दत से याद किए गए छत्रपति शिवाजी महाराज, छात्र-छात्राओं द्वारा दी गई भावभीनी श्रद्धांजलि
February 19, 2020 • aaditya prakash srivastava • राजनीति

शहाबुद्दीन अहमद, बेतिया(प.चं.), बिहार। आज 19 फरवरी 2020 को सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन के सभागार सत्याग्रह भवन में महान योद्धा एवं मां भारती के अमर सपूत छत्रपति शिवाजी महाराज की 390वी जन्मदिवस पर एक भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया! जिसमें विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों बुद्धिजीवियों एवं छात्र छात्राओं ने भाग लिया।इस अवसर पर स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर सह सचिव सत्याग्रह रिसर्च फाउंडेशन डॉ0 एजाज अहमद (अधिवक्ता) ने कहा कि आज ही के दिन आज से 390 वर्ष पूर्व 19फरवरी 1630 ई0 को छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्म हुआ था। उनका सारा जीवन राष्ट्र के लिए समर्पित रहा। गंगा जमुना तहजीब एवं हिंदू मुस्लिम एकता के सच्ची पक्षधर थे छत्रपति शिवाजी महाराज। छत्रपति शिवाजी महाराज ने भारी संख्या में मुस्लिम युवाओं को सैनिक के रूप में बहाल किया था! धर्म जाति से ऊपर उठकर मानव सेवा एवं मानवता के लिए किए गए कार्यों के लिए शिवाजी महाराज को सूफी संतों एवं चर्च के पादरियों का आशीर्वाद प्राप्त था। आगरा के किले में कैद से मुक्ति कराने में मदारी मेहतर में एक मित्र के रूप में अपनी जान पर खेलकर छत्रपति शिवाजी महाराज की मदद की थी। शिवाजी महाराज गुप्तचर विभाग के प्रमुख का नाम मौलाना हैदर अली एवं तोप खाने के प्रमुख का नाम इब्राहिम इब्राहिम खान गार्दी था। शिवाजी महाराज के प्रमुख अंगरक्षक का नाम रुस्तम एक जमा था। इस अवसर पर बिहार विश्वविद्यालय के इतिहास विभाग के डॉ0 शाहनवाज अली एवं स्वच्छ भारत मिशन के ब्रांड एंबेसडर डॉ नीरज गुप्ता ने कहा कि नई पीढ़ी को शिवाजी महाराज के जीवन दर्शन को अपनाने की आवश्यकता है एवं शिवाजी महाराज के सिद्धांतों पर चलते हुए धर्म जाति से ऊपर उठकर राष्ट्र की हरसंभव सेवा करने की आवश्यकता है ताकि भारत एक गौरवशाली विकसित राष्ट्र बन सके।