ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बगहा(प.च.) :: भारतरत्न सरदार वल्लभभाई पटेल की 144वीं जयंती पर 65 वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल के अधिकारियों व जवानों ने मानये राष्ट्रीय एकता दिवस
November 1, 2019 • aaditya prakash srivastava • देश

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी, बगहा प.च. बिहार। 65वीं वहिनी सशस्त्र सीमा बल, प्रशिक्षण केंद्र बगहा के कार्यालय परिसर म में कमांडेंट उपेंद्र रावत के नेतृत्व में सरदार वल्लभभाई पटेल के 144वीं जन्मदिन के उपलक्ष्य पर राष्ट्रीय एकता दिवस मनाई गई। राष्ट्रीय एकता दिवस पर एसएसबी के अधिकारियों व जवानों को एकता, अखंडता की शपथ भी दिलाई गई।

 देश के पहले उप प्रधानमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती देश भर में राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप मनाया जाता रहा हैं।सरदार वल्लभ भाई पटेल का भारत को एकजुट करने में बहुत बड़ा योगदान रहा है। सरदार वल्लभभाई पटेल ने भारत की आजादी के बाद साल 1947- 49 के बीच करीब दो रियासतों को एक करने में अहम भूमिका निभाई। उनकी सूझबूझ की बदौलत ही हम आज भारत को इस रूप में देखते हैं।भारत के एकीकरण में उनका अहम योगदान रहा।सरदार वल्लभभाई पटेल को लौह पुरूष के नाम से भी जाना जाता हैं। उनका जन्म गुजरात में 31 अक्टूबर 1875 को हुआ था। 15 अगस्त 1947 से 15 दिसम्बर 1950 तक देश के गृह मंत्री रहे साथ ही उनको भारतरत्न से भी नवाजा गया।

उन्होंने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि सरदार बल्लभ भाई पटेल के देश की एकता को बनाए रखने में किए गए योगदानों को भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि सभी बल सदस्य अपने कर्तव्य, लगन और मेहनत से देश की सेवा करते रहेंगे।कमांडेंट श्री रावत ने बताया की सरदार बल्लभ भाई पटेल के देश की एकता को बनाए रखने में किए गए योगदानों को भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि 65वीं वहिनी एसएसबी बल सदस्य अपने कर्तव्य, लगन और मेहनत से देश की सेवा करते रहेंगे।इस दौरान निरीक्षक आशित प्रकाश,उप निरीक्षक लिपिक जितेंद्र कुमार,सा उप निरीक्षक विजय वेरुलकर एवं अधीनस्थ सभी जवान उपस्थित रहे।