ALL देश विदेश सम्पादकीय राजनीति अपराध खेल मनोरंजन चुनाव आध्यात्म सामान्य
बगहा(प.च.) :: बच्चो द्वारा एम डी एम मांगने पर प्रधान शिक्षक लगाते हैं डांंट-फटकार, विद्यालय में तीन महीने से नहीं बना है भोजन, प्रधान शिक्षक ने विभाग पर आरोप लगा अपना पल्ला झाड़ा
October 19, 2019 • aaditya prakash srivastava

विजय कुमार शर्मा, कुशीनगर केसरी, बगहा प.च. बिहार। बगहा एक प्रखण्ड के सिसवा बसन्तपुर पंचायत अंतर्गत राजकीय गोकुल मध्य विद्यालय में पिछले तीन महीने से एमडीएम बन्द है, जिसको लेकर छात्रों में रोष व्याप्त है। छात्रों ने बताया कि एमडीएम मांगने पर प्रधान शिक्षक हमें डांट फटकार खिलाते है। मध्याह्न भोजन के लिए हमलोगों को अपने घर जाना पड़ता है। आगे छात्रों ने बताया कि बारिश होने पर विद्यालय का मैदान जलमग्न हो जाता है, जिसके कारण हमलोग खेल भी नही पाते हैं। शिक्षकों की कम उपस्थिति से पढ़ाई लिखाई बाधित हो रही है। हमेशा कोई शिक्षक छुट्टी पर अथवा मीटिंग में गये रहते हैं। विद्यालय में कुल नामांकित छात्रों की संख्या 235 है जबकि शिक्षकों की संख्या चार है फिर भी पठन पाठन और अन्य व्यवस्थाएं नदारद हैैं।

 प्रधान शिक्षक शंभुशरण पासवान ने बताया कि बच्चों को एमडीएम नही मिलने का कारण सम्बंधित विभाग की नाकामी है। पिछले तीन महीने से विभाग द्वारा चावल का आवंटन नही किया जा रहा है जिससे एमडीएम प्रभावित हो रहा है।उन्होंने कहा कि 12 जुलाई से एमडीएम बन्द है अबतक चावल का आवंटन नही हुआ है जिसकी सारी जिम्मेदारी आपूर्ति विभाग की है। वहींं ग्रामीणों ने प्रधान शिक्षक पर घोर अनियमितता एव लापरवाही का आरोप लगाते हुए कहा कि विद्यालय का विकास, छात्रों के पठन-पाठन एव एमडीएम हेतु काफी निष्क्रिय रहते हैं। लोगों ने कहा कि प्रधान शिक्षक की कमी के कारण ही एमडीएम प्रभावित हुआ है। जिसका आरोप विभाग पर लगाकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। ग्रामीणों ने शिक्षा विभाग से प्रधान शिक्षक पर कार्यवाही की मांग किया।